Jai Adhya Shakti Aarti Lyrics – माँ आद्य शक्ति की आरती

Jai Adhya Shakti Aarti Lyricsमाँ आद्या शक्ति की आरती

Jai Adhya Shakti Aarti Lyricsमाँ आद्य शक्ति की आरती

Jai Adhya Shakti Aarti Lyrics
Jai Adhya Shakti Aarti Lyrics

आद्य शक्ति, माँ जय आद्य शक्ति,
अखंड ब्रह्माण्ड दीपाव्यां, अखंड ब्रह्माण्ड दीपाव्यां, पडवे प्रगट्या माँ ……………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………….

द्वितीय बे स्वरूप, शिवशक्ति जाणुं, माँ शिवशक्ति जाणुं,
ब्रह्मा गणपती गाये, ब्रह्मा गणपती गाये, हरे गाये हर माँ ………………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………..

तृतीया त्रण सरूप त्रिभुवनमां बेठा, माँ त्रिभुवनमां बेठा
त्रया स्थकी तरवेणी, त्रया स्थकी तरवेणी, तमे तरवेणी माँ …………………..ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………………

चोथे चतुरा महालक्ष्मी माँ सचराचरव्याप्या, माँ सचराचरव्याप्या;
चार भुजा चौ दिशा, चार भुजा चौ दिशा, प्रगट्या दक्षिणमां ……………………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………

पंचमी पंच ऋषी, पंचमी गुण पदमां, माँ पंचमी गुण पदमां
पंच तत्त्व त्यां सोहिये, पंच तत्त्व त्यां सोहिये पंचे तत्वो मा …………………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………..

षष्ठी तुं नारायणी महिसासुर मारयो, माँ महिसासुर मारयो,
नरनारीने रुपे, नरनारीने रुपे व्याप्या सर्वेमां ……………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………..

सप्तमी सप्त पाताल संध्या सावित्री, माँ संध्या सावित्री ,
गौ गंगा गायत्री, गौ गंगा गायत्री गौरी गीता माँ ………………..ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………

अष्टमी अष्ट भुजा आई आनंदा, माँ आई आनंदा,
सुनीवर मुनीवर जन्म्या, सुनीवर मुनीवर जन्म्या देवो दैत्यो मां ……………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………….

नवमी नवकुळ नाग सेवे नवदुर्गा, माँ सेवे नवदुर्गा,
नवरात्रीना पूजन, शिवरात्रीना अर्चन कीधा हर ब्रह्मा ……………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे …………………

दसमे दस अवतार जय विजयादशमी, माँ जय विजयादशमी,
रामे रावण मार्‍या, रामे रावण मार्‍या रावण रोड्यो माँ …………………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………………

एकादशी अगीयारस कात्यायनी कामा, माँ कात्यायनी कामा,
काम दुर्गा कालिका, काम दुर्गा कालिका श्यामा ने रामा …………………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………….

बारशे बाळा रूप बहुचरी अम्बा माँ, माँ बहुचरी अम्बा माँ,
बटुक भैरव सोहिये, काल भैरव सोहिये, तारा छे तुजमां …………………..ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे …………….

तेरशे तुळजा रूप तमे तारुणि माता, तमे तारुणि माता,
ब्रह्मा विष्णु सदाशिव, ब्रह्मा विष्णु सदाशिव गुण तारा गाता ………………..ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………..

चौदशे चौदा रूप चंडी चामुंडा, माँ चण्डी चामुण्डा,
भावभक्ति कयीं आपो, चतुराई कयीं आपो, सिंहवाहिनी माँ ……………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………………….

पूनमे कुम्भ भर्यो सांभळ जे करुणा, माँ सांभळजो करुणा
वसिष्ठ देवे वखाण्या, मार्तण्ड मुनिये वखाण्या, गाये शुभकविता ………………..ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………….

संवत सोळ सतावन सोळशे बावीश मां, माँ सोळशे बावीस मां,
संवत सोळे प्रगट्यां, संवत सोळे प्रगट्यां रेवा ने तीरे, माँ गंगाने तीरे ………………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे …………….

त्रंबावटी नगरी आईं रुपावटी नगरी, माँ मंछावटी नगरी,
सोळ सहस्त्र त्यां सोहिये, सोळ सहस्त्र त्यां सोहिये क्षमा करो गौरी, माँ दया करो गौरी ……………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ………………

शिवशक्ति नि आरती जे भावे गाशे, माँ जे प्रेमे गाशे,
भणे शिवानंद स्वामी, भणे भोळानंद स्वामी ,सुख संपति थाशे,
हर कैलाशे जाशे, माँ अम्बा दुख हरशे …………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे …………………

माँ नो मंडप लाल गुलाबी, शोभा बऊ सारी, शोभा बऊ सारी
अभिल उडे आनंदे, गुलाल उडे आनंदे, पुष्पो वरसे माँ ……………………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………..

माँ नी चूनड़ी लाल गुलाबी, शोभा बहु सारी, शोभा बऊ सारी
चुंदड़ी माँ हिरला चमके, चुंदड़ी माँ ताराला चमके, जय बहुचरवाली ………………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………

ए बे एक स्वरुप, अंतर नवधरशो, अंतर नवधरशो
भोळा भवानी ने भजता, भोळा भवानी ने भजता भवसागर तरसो ………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे ……………..

भाव ना जाणू, भक्ती ना जाणू, नवं जाणू सेवा, नवं जाणू सेवा
वल्लभ वट ने राखो, आ बाळक ने राखो, चरणे सुख देवा …………ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे…………

आद्य शक्ति, माँ जय आद्य शक्ति,
अखंड ब्रह्माण्ड दीपाव्यां, अखंड ब्रह्माण्ड दीपाव्यां पडवे प्रगट्या माँ ………….ॐ जय ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे…………..

Downloadडाउनलोड

अगर आप माँ आद्य शक्ति की आरती को डाउनलोड करना चाहतें हैं तो निचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लीक करें. इससे आपके सामने एक डाउनलोड पेज खुलेगा. जहाँ से आप इस आरती को डाउनलोड कर पायेंगे.

Read more –

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti Lyrics

Jag Janani Jai Jai Aarti

Aarti Jag Janani Main Teri Gaun

Jai Ambe Gauri Aarti Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *