parwati aarti

Parwati Aarti : पार्वती माता आरती : डाउनलोड : Lyrics : Download

Parwati aarti is a great source to please and get the blessing of Parwati mata. पार्वती माता की आरती मैया पार्वती की आराधना और मैया की कृपा प्राप्ति का एक सफल साधन है.

स्त्रियों के लिए तो माता पार्वती की आराधना करना बहुत ही आवश्यक है. माता पार्वती की कृपा से जीवन में सदा खुशियाँ बनी रहती है. सुहाग और संतान की रक्षा होती है.

Parwati Aarti

parvati aarti
parwati aarti

|| पार्वती माता आरती ||

जय पार्वती माता जय पार्वती माता,

ब्रम्हा सनातन देवी शुभ फल की दाता |

मैया जय पार्वती माता……

अरिकुल पद्मा विनासनी जय सेवक त्राता,

जग जीवन जगदम्बा हरिहर गुण गाता ||

मैया जय पार्वती माता……

सिंह को वाहन साजे कुंडल है साथा,

देव बंधु जस गावत नृत्य करत ता था |

मैया जय पार्वती माता………

सतयुग रूप शील अतिसुन्दर नाम सती कहलाता,

हेमांचल घर जन्मी सखियन संग राता |

मैया जय पार्वती माता…….

शुम्भ निशुम्भ विदारे हेमांचल स्थाता,

सहस्त्र भुज तनु धरिके चक्र लियो हाथा |

मैया जय पार्वती माता………

सृष्टी रूप तुही है जननी शिव संग रंगराता,

नंदी भृंगी बीन लही है हाथन मदमाता ||

मैया जय पार्वती माता…….

देवन अरज करत तव चित को लाता,

गावत दे दे ताली मन में रंगराता |

मैया जय पार्वती माता…….

श्री प्रताप आरती मैया की जो कोई गाता,

सदा सुखी नित रहता सुख संपति पाता ||

मैया जय पार्वती माता……….

Parvati Aarti

parwati aarti
parvati aarti

Jai Parwati mata, maiya jai Parwati mata,

Brahm sanatan devi shubhphal ki data.

Arikulpadm winasani jai sewaktrata,

Jagjiwan Jagdamba harihar gun gata.

Sinh ka waahan saaje kundal hain satha,

Dewbandhu jas gaawat nritya karat ta tha.

satyug rup shil atisunder naam sati kahlata,

Hemanchal ghar janmi sakhiyan sang rata.

Shumbh Nishumbh widaare hemanchal sthata,

Sahastra bhuj tanu dharike chakra liyo hatha.

Srishti rup tuhi hai janni Shivsang rang rata,

Nandi Bringi bin lahi hai haathan madmata.

Dewan araj karat tab chit ko lata,

Gaawat de de taali man me rangrata.

Shri pratap aarti maiya ki jo koi gata,

Sada sukhi nit rahta sukh sampati pata.

Maiya Jai Parwati mata.

पार्वती माता की आरती कैसे करें?

parwati mata
mata parwati and bhagwan shiv
  • पार्वती माता की आरती आप किसी भी दिन कर सकतें हैं.
  • प्रातः काल का समय पार्वती माता की आरती के लिए उत्तम होता है.
  • संध्याकाल में भी मैया पार्वती की आरती कर सकतें हैं.
  • आरती करने से पूर्व स्नान आदि करके खुद को पवित्र कर लें.
  • पहले माता पार्वती की पूजा करें.
  • धुप दीप दिखाएँ.
  • पुष्प आदि अर्पण करें.
  • माता को सिंदूर अर्पण करें.
  • उसके पश्चात माता पार्वती की आरती करें.

Benefits of Parwati Mata Aarti

parwati
mata parwati bhagwan shiv
  • पार्वती माता आरती /Parwati Mata Aarti करने से माता पार्वती की कृपा प्राप्ति होती है.
  • मैया बहुत ही दयालु है, वे सदा अपने बच्चों पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखती है.
  • माता पार्वती की कृपा से धन धान्य की प्राप्ति होती है.
  • सुहाग और संतान की रक्षा माता पार्वती करती है.
  • माता संतान सुख प्रदान करती है.
  • जीवन में खुशियाँ मैया की कृपा से आती है.

Parwati Aarti Download

To download Parwati Aarti Hindi pdf and Parwati Aarti English pdf click the link below. You can also print Parvati Aarti.

पार्वती माता की आरती को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें. आप पार्वती माता आरती को प्रिंट भी कर सकतें हैं.

पार्वती माता की आरती के प्रकाशन में पूर्णतया सावधानी बरती गयी है फिर भी अगर कोई त्रुटी रह गयी हो तो निचे कमेन्ट बॉक्स में लिखें मैं उसे जरुर ठीक करूँगा.

मैया पार्वती आप सभी की मनोकामना पूर्ण करें.

जय मैया पार्वती

धन्यवाद.

Read more

Durga mata Aarti / दुर्गा माता की आरती

Shani dev Aarti / शनि देव की आरती

Hanuman Aarti / हनुमान आरती

Lakshmi Mata Aarti / लक्ष्मी माता आरती

Ram Aarti / राम आरती

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment