Shri Parshvanath Bhagwan ki Aarti श्री पार्श्वनाथ भगवान की आरती

Shri Parshvanath Bhagwan ki Aarti श्री पार्श्वनाथ भगवान की आरती – भगवान पार्श्वनाथ की स्तुति श्रद्धा और भक्ति के साथ करें.

Shri Parshvanath Bhagwan ki Aarti

|| श्री पार्श्वनाथ भगवान की आरती ||

ॐ जय पारस देवा स्वामी जय पारस देवा !
सुर नर मुनिजन तुम चरणन की करते नित सेवा |

पौष वदी ग्यारस काशी में आनंद अतिभारी,
अश्वसेन वामा माता उर लीनों अवतारी |

ॐ जय पारस देवा ………..

श्यामवरण नवहस्त काय पग उरग लखन सोहैं,
सुरकृत अति अनुपम पा भूषण सबका मन मोहैं |

ॐ जय पारस देवा ………..

जलते देख नाग नागिन को मंत्र नवकार दिया,
हरा कमठ का मान, ज्ञान का भानु प्रकाश किया |

ॐ जय पारस देवा ………..

मात पिता तुम स्वामी मेरे, आस करूँ किसकी,
तुम बिन दाता और न कोई, शरण गहूँ जिसकी |

ॐ जय पारस देवा ………..

तुम परमातम तुम अध्यातम तुम अंतर्यामी,
स्वर्ग-मोक्ष के दाता तुम हो, त्रिभुवन के स्वामी |

ॐ जय पारस देवा ………..

दीनबंधु दु:खहरण जिनेश्वर, तुम ही हो मेरे,
दो शिवधाम को वास दास, हम द्वार खड़े तेरे |

ॐ जय पारस देवा ………..

विपद-विकार मिटाओ मन का, अर्ज सुनो दाता,
सेवक द्वै-कर जोड़ प्रभु के, चरणों चित लाता |

ॐ जय पारस देवा ………..

Video

भगवान श्री पार्श्वनाथ जी की आरती के विडियो निचे दिए गएँ हैं. आप इन्हें अवस्य देखें.

Parshvanath Aarti

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी देखें.

Bahubali Bhagwan Ki Aarti बाहुबली भगवान की आरती

Aadinath Bhagwan Ki Aarti आदिनाथ भगवान की आरती

Manibhadra Veer Aarti मणिभद्रवीर आरती

Know more about Shri Parshvanath from Wikipedia Page.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!