Ganpati Ki Seva Mangal Meva – गणपति की सेवा मंगल मेवा

Ganpati Ki Seva Mangal Mevaगणपति की सेवा मंगल मेवा – भगवान श्री गणपति गणेश जी की आराधना और स्तुति के लिए आप इस आरती को माध्यम बना सकतें हैं.

इस आरती को करने से भगवान श्री गणपति श्री गणेश जी अपने भक्तों के सभी शुभ कार्यो को निर्बिघ्न रूप से पूर्ण करतें हैं. सुख सम्पति प्रदान करतें हैं.

ह्रदय में भगवान श्री गणपति जी के प्रति सम्पूर्ण श्रद्धा रखते हुए उनकी आराधना करें.

Ganpati Ki Seva Mangal Meva – गणपति की सेवा मंगल मेवा

Ganpati Ki Seva Mangal Meva
Ganpati Ki Seva Mangal Meva

गणपति की सेवा मंगल मेवा,
सेवा से सब विध्न टरें |

तीन लोक तैतिस देवता,
द्वार खड़े सब अर्ज करे ||

ऋद्धि-सिद्धि दक्षिण वाम विराजे,
अरु आनन्द सों चवर करें |

धूप दीप और लिए आरती,
भक्त खड़े जयकार करें ||

गुड़ के मोदक भोग लगत है,
मुषक वाहन चढ़ा करें |

सौम्यरुप सेवा गणपति की,
विध्न भागजा दूर परें ||

भादों मास और शुक्ल चतुर्थी,
दिन दोपारा पूर परें |

लियो जन्म गणपति प्रभुजी ने,
दुर्गा मन आनन्द भरें ||

अद्भुत बाजा बजा इन्द्र का,
देव वधू जहँ गान करें |

श्री शंकर के आनन्द उपज्यो,
नाम सुन्या सब विघ्न टरें ||

आन विधाता बैठे आसन,
इन्द्र अप्सरा नृत्य करें |

देख वेद ब्रह्माजी जाको,
विघ्न विनाशक नाम धरें ||

एकदन्त गजवदन विनायक,
त्रिनयन रूप अनूप धरें |

पगथंभा सा उदर पुष्ट है,
देख चन्द्रमा हास्य करें ||

दे श्राप श्री चंद्रदेव को,
कलाहीन तत्काल करें |

चौदह लोक मे फिरे गणपति,
तीन लोक में राज्य करें ||

उठ प्रभात जो आरती गावे,
ताके सिर यश छत्र फिरें |

गणपति जी की पूजा पहले करनी,
काम सभी निर्बिघ्न करें |

श्री गणपति जी की
हाथ जोड़कर स्तुति करें |

गणपति की सेवा मंगल मेवा,
सेवा से सब विध्न टरें |

Ganpati Ki Seva Mangal Meva Lyrics

Ganpati Ki Seva Mangal Meva,
Seva Se Sab Bighna Tare.

Tin Lok Taintis devta,
Dwar Khade Sab Arj Kare.

Riddhi Siddhi Dakshin Vaam Viraje,
Aru Aanand So Chavar Kare.

Dhup Deep Aur Liye Aarti,
Bhakt Khade Jaykar Kare.

Gud Ke Modak Bhog Lagat Hai,
Mushak Vaahan Chadha Karen.

Soumyarup Seva Ganpati Ki,
Vighna Bhagja Dur Pare.

Bhado Maas Aur Shukla Chaturthi,
Din Dopara Pur Pare.

Liyo Janm Ganpati Prabhuji Ne,
Durga Man Aanand Bhare.

Adbhut Baja Baja Indra Ka,
Dev Vadhu Jahan Gaan Kare.

Shri Shankar Ke Aanand Upjyo,
Naam Sunya Sab Vighna Tare.

Aan Vidhata Baithe Aasan,
Indra Apsra Nritya Kare.

Dekh Ved Brahmaji Jako,
Vighna Vinashak Naam Dhare.

Ekdant Gajvadan Vinayak,
Trinayan Rup Anoop Dhare.

Pagthambha Sa Udar Pusht Hai,
Dekh Chandrma Haasya Kare.

De Shrap Shri Chandradev Ko,
Kalahin Tatkal Kare.

Choudah Lok Me Fire Ganpati,
Tin Lok Me Rajya Kare.

Uth Prabhat Jo Aarti Gaave,
Taake Sir Yash Chatra Phire.

Ganpati Ji Ki Puja Pahle Karni,
Kaam Sabhi Nirbighna Kare.

Shri Ganpati Ji Ki
Haath Jodkar Stuti Kare.

Ganpati Ki Seva Mangal Meva,
Seva Se Sab Vighna Tare.

Video | विडियो

Ganpati Ki Seva Mangal Meva Aarti
गणपति की सेवा मंगल मेवा

Mp3 Audio

गणपति की सेवा मंगल मेवा श्री गणपति गणेश जी की स्तुति करने के लिए अगर आप Mp3 ऑडियो चाहतें हैं तो निचे दिए गए बटन को दबाएँ. इससे आप इसके ऑडियो साईट पर चले जायेंगे.

गणपति की सेवा मंगल मेवा को सुनने के लिए आप निचे दिए गए प्ले बटन को दबाएँ.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी एक बार जरुर देखें –

Shri Ganesh Aarti – Om Jai Gauri Nandan श्री गणेश आरती – ॐ जय गौरी नंदन

Ganesh Gayatri Mantra – गणेश गायत्री मंत्र : गणपति की कृपा प्राप्ति का महामंत्र

Ganesh Chalisa – श्री गणेश चालीसा – श्री गणपति चालीसा

Deva Ho Deva Ganpati Deva Lyrics – देवा हो देवा गणपति देवा लिरिक्स

Ganesh ji ki Aarti श्री गणेश आरती

Ganpati Aarti in Marathi श्री गणपति आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *