Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa मंगल की सेवा सुन मेरी देवा

Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa | माँ काली की आरती : मंगल की सेवा सुन मेरी देवा आरती को माँ दुर्गे और माँ काली या फिर देवी की स्तुति और आरती के लिए गाया जाता है.

इस विडियो को अवस्य देखें

Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa Video

इस आरती के माध्यम से मैया काली या फिर मैया के अन्य रूपों की आरती की जाती है. आप अन्य आरतियों के माध्यम से भी मैया की आरती और स्तुतिगान कर सकतें हैं. सभी आरतियों अत्यंत शुभ फलदायी होती हैं.

माँ दुर्गे और उनके सभी रूपों की आरतियाँ आपको इस वेबसाइट में मिल जायेंगी. निचे आरती का लिंक दिया गया है. आप वहाँ क्लिक करके समस्त आरतियों को देख सकतें हैं और डाउनलोड भी कर सकतें हैं.

Aarti | आरती

आज के इस अंक में आज हम माँ काली की आरती : मंगल की सेवा सुन मेरी देवा | Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa पर चर्चा करेंगे. आप इसे डाउनलोड भी कर सकतें हैं.

डाउनलोड लिंक पोस्ट के अंत में दिया गया है.

Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa

Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa Video

माँ काली की आरती : मंगल की सेवा सुन मेरी देवा आरती

मंगल की सेवा सुन मेरी देवा,
हाथ जोड तेरे द्वार खडे।
मंगल की सेवा सुन मेरी देवा,
हाथ जोड तेरे द्वार खडे।
पान सुपारी ध्वजा नारियल
ले ज्वाला तेरी भेट धरे॥

सुन जगदम्बे न कर विलम्बे,
संतन के भडांर भरे।
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली,
जय काली कल्याण करे॥

बुद्धि विधाता तू जग माता,
मेरा कारज सिद्व करे।
चरण कमल का लिया आसरा,
शरण तुम्हारी आन पडे॥

जब जब भीड पडी भक्तन पर,
तब तब आप सहाय करे।
संतन प्रतिपाली सदा खुशाली,
जय काली कल्याण करे॥

गुरु के वार सकल जग मोहयो,
तरुणी रूप अनूप धरे।
माता होकर पुत्र खिलावे,
कही भार्या भोग करे॥

शुक्र सुखदाई सदा सहाई,
संत खडे जयकार करे।
सन्तन प्रतिपाली सदा खुशहाली,
जै काली कल्याण करे॥

ब्रह्मा विष्णु महेश फल लिये,
भेट देन तेरे द्वार खडे।
अटल सिहांसन बैठी मेरी माता,
सिर सोने का छत्र फिरे॥

kali aarti
kali mata aarti

वार शनिचर कुकम बरणो,
जब लुंकड़ पर हुकुम करे।
सन्तन प्रतिपाली सदा खुशाली,
जै काली कल्याण करे॥

खड्ग खप्पर त्रिशुल हाथ लिये,
रक्त बीज को भस्म करे।
शुम्भ निशुम्भ को क्षण में मारे,
महिषासुर को पकड दले॥

आदित वारी आदि भवानी,
जन अपने को कष्ट हरे।
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली,
जै काली कल्याण करे॥

कुपित होकर दानव मारे,
चण्डमुण्ड सब चूर करे।
जब तुम देखी दया रूप हो,
पल में सकंट दूर करे॥

सौम्य स्वभाव धरयो मेरी माता,
जन की अर्ज कबूल करे।
सन्तन प्रतिपाली सदा खुशहाली,
जै काली कल्याण करे॥

सात बार की महिमा बरनी,
सब गुण कौन बखान करे।
सिंह पीठ पर चढी भवानी,
अटल भवन में राज्य करे॥

दर्शन पावे मंगल गावे,
सिद्ध साधक तेरी भेट धरे।
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली,
जै काली कल्याण करे॥

ब्रह्मा वेद पढे तेरे द्वारे,
शिव शंकर हरी ध्यान धरे।
इन्द्र कृष्ण तेरी करे आरती,
चंवर कुबेर डुलाय रहे॥

जय जननी जय मातु भवानी,
अटल भवन में राज्य करे।
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली,
जय काली कल्याण करे॥

मंगल की सेवा सुन मेरी देवा,
हाथ जोड तेरे द्वार खडे।
पान सुपारी ध्वजा नारियल
ले ज्वाला तेरी भेट धरे॥

मंगल की सेवा सुन मेरी देवा,
हाथ जोड तेरे द्वार खडे।
पान सुपारी ध्वजा नारियल
ले ज्वाला तेरी भेट धरे॥

Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa Aarti Lyrics

Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa
Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa

Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa,
Hath Jod Tere Dwar Khade.
Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa,
Hath Jod Tere Dwar Khade.
Pan Supari Dhwaja Nariyal,
Le Jwala Teri Bhet Dhare.

Sun Jagdambe Na Kar Wilambe,
Santan Ke Bhandar Bhare.
Santan Pratipali Sada KhushHali.
Jai Kali Kalyaan Kare.

Buddhi Widhata Tu Jag Mata,
Mera Kaaraj Siddh Kare.
Charan Kamal Ka Liya Aasra,
Sharan Tumhari Aan Pade.

Jab Jab Bheed padi Bhaktan Par,
Tab Tab Aap Sahay kare.
Santan PratiPali Sada Khushali.
Jai Kali Kalyan Kare.

Guru Ke War Sakal Jag Mohyo.
Taruni Rup Anup Dhare.
Mata Hokar Putra Khilawe.
Kahi Bharya Bhog Kare.

Shukra Sukh Dayi Sada Sahayi,
Sant Khade jaiKar Kare.
Santan Pratipali Sada KhushHali.
Jai Kali Kalyan Kare.

Brahma Wishnu Mahesh Phal Liye,
Bhet Den Tere Dwar Khade.
Atal Sinhasan Baithi Meri Mata.
Sir Sone Ka Chhatra Fire.

War ShaniChar Kukam Barno,
Jab Lunkad Par Hukum kare.
Santan PratiPali Sada Khushali.
Jai Kali Kalyaan Kare.

Khadag Khappar Trishul Hath Liye.
Rakt Beej Ko Bhasm kare.
Shumbh Nishumbh Ko Kshan Me Mare,
MahishaSur Ko Pakad Dale.

Aadit Wari Aadi Bhawani,
Jan Apne Ko Kasht hare.
Santan PratiPali Sada KhushHali,
Jai Kali Kalyaan Kare.

Kupit Hokar Daanaw Mare,
Chand Mund Sab Chur kare.
Jab Tum Dekhi Daya Rup Ho,’
Pal Me Sankat Dur kare.

Saumya Swabhaw Dharyo Meri Mata.
Jan Ki Arj Kabul kare.
Santan PratiPali Sada KhushHali,
Jai Kali Kalyaan kare.

Saat Bar Ki Mahima barni,
Sab Gun kaun Bakhan Kare.
Sinh Peeth Par Chadhi Bhawani,
Atal Bhawan Me Raajya Kare.

Darshan Paawe Mangal Gawe,
Siddh Saadhak Teri Bhet Dhare.
Santan Pratipali Sada KhushHali,
Jai Kali Kalyaan kare.

Brahma Wed Padhe Tere Dware,
Shiv Shankar hari Dhyan Dhare.
Indra Krishn Teri Kare Aarti,
Chanwar Kuber Dulaay rahe.

Jai Janani Jai Matu Bhawani,
Atal Bhawan Me Raajya Kare.
Santan PratiPali Sada KhushHali,
Jai Kali Kalyaan Kare.

Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa,
Hath Jod Tere Dwar Khade.
Pan Supari Dhwaja Nariyal,
Le Jwala Teri Bhent Dhare.

Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa,
Hath Jod Tere Dwar Khade.
Pan Supari Dhwaja Nariyal,
Le Jwala Teri Bhet Dhare.

Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa Download

kali aarti
mata kali ki aarti

If you want to download Maa Kali ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa in PDF click the PDF download Button below.

अगर आप माँ काली की आरती : मंगल की सेवा सुन मेरी देवा को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करना चाहतें हैं. तो निचे दिए गए पीडीऍफ़ डाउनलोड लिंक पर क्लिक करें. आप इसे सीधे प्रिंट भी कर सकतें हैं.

मैया की अन्य आरतियों को भी अवस्य देखें.

Jai Ambe Gauri Aarti | जय अम्बे गौरी आरती

Ambe tu hai Jagdambe Kali Aarti | अम्बे तू है जगदम्बे काली आरती

Maa Durga Aarti : Jag Janani Jai Jai | माँ दुर्गा आरती जग जननी जय जय

तुलसी माता आरती

चिंतपूर्णी माता आरती

अन्नपूर्णा माता आरती

पार्वती माता आरती

शीतला माता की आरती

माता वैष्णोदेवी की आरती

संतोषी माता की आरती

गायत्री माता की आरती

राधा जी की आरती

माता काली की आरती

सरस्वती माता की आरती

गंगा मैया की आरती

मैया काली के संबंद्ध में और जाने

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *