Saraswati Aarti – सरस्वती माता की आरती

माता सरस्वती की आरती / Saraswati Aarti से देवी सरस्वती की कृपा प्राप्ति होती है. माता सरस्वती की कृपा से मनुष्य को ज्ञान की प्राप्ति होती है. अज्ञान का अँधेरा मनुष्य के जीवन से मिटता है.

छात्रों और कलाकारों की तो माता सरस्वती पर अगाध आस्था रहती है. जीवन में सफलता माता सरस्वती की कृपा से मिलती है.

Saraswati Aarti

Saraswati Aarti
Saraswati Aarti

माता सरस्वती की आरती

जय सरस्वती माता,
मैया जय सरस्वती माता |

सदगुण वैभव शालिनी,
त्रिभुवन विख्याता ||

मैया जय सरस्वती माता ||

चन्द्रवदनि पद्मासिनि,
द्युति मंगलकारी |

सोहे शुभ हंस सवारी,
अतुल तेजधारी ||

मैया जय सरस्वती माता ||

बाएं कर में वीणा,
दाएं कर माला |

शीश मुकुट मणि सोहे,
गल मोतियन माला ||

मैया जय सरस्वती माता ||

देवी शरण जो आए,
उनका उद्धार किया |

पैठी मंथरा दासी,
रावण संहार किया ||

जय सरस्वती माता ||

विद्या ज्ञान प्रदायिनि,
ज्ञान प्रकाश भरो |

मोह अज्ञान और तिमिर का,
जग से नाश करो ||

मैया जय सरस्वती माता ||

धूप दीप फल मेवा,
माँ स्वीकार करो |

ज्ञानचक्षु दे माता,
जग निस्तार करो ||

जय सरस्वती माता ||

Get a 70% discount on Shared, WordPress Hosting, and Reseller Hosting. On top of that, you get a free domain registration for one year.

माँ सरस्वती की आरती,
जो कोई जन गावे |

हितकारी सुखकारी
ज्ञान भक्ति पावे ||

मैया जय सरस्वती माता ||

जय सरस्वती माता,
मैया जय जय सरस्वती माता |

सदगुण वैभव शालिनी,
त्रिभुवन विख्याता ||

मैया जय सरस्वती माता ||

बोलो सरस्वती मैया की जय | माता सरस्वती की जय | वीणावादिनी की जय |

Saraswati Aarti Lyrics in English

Saraswati Aarti

Video credit – YouTube T Series

Jay Saraswati maata,
Maiya jay Saraswati maata.

Sadagun vaibhav shaalinee,
Tribhuvan vikhyaata.

Maiya jay Saraswati maata.

Chandravadani padmaasini,
Dyuti mangalakaaree.

Sohe shubh hans savaaree,
Atul tejadhaaree.

Maiya jay Saraswati maata.

Baayen kar mein veena,
Daayen kar maala.

Sheesh mukut mani sohe,
Gal motiyan maala.

Maiya jay Saraswati maata.

Devee sharan jo aaye,
Unaka uddhaar kiya.

Paithee manthara daasee,
Raavan sanhaar kiya.

Maiya jay Saraswati mata.

Vidya gyaan pradaayini,
Gyaan prakaash bharo.

Moh agyaan aur timir ka,
Jag se naash karo.

Maiya jay Saraswati mata.

Dhoop deep phal meva,
Maan sveekaar karo.

Gyaanachakshu de maata,
Jag nistaar karo.

Maiya jay Saraswati mata.

Maan Saraswati kee aarti,
Jo koee jan gaave.

Hitakaaree sukhakaaree
Gyaan bhakti paave.

Maiya jay Saraswati mata.

Jay Saraswati maata,
Maiya Jay jay Saraswati mata.

Sadagun vaibhav shaalinee,
Tribhuvan vikhyaata.

Maiya jay Saraswati mata.

Also Read Saraswati Chalisa/सरस्वती चालीसा

How to Chant Saraswati mata aarti?

  • सरस्वती माता की आरती किसी भी दिन की जा सकती है.
  • प्रातःकाल स्नान करके माता सरस्वती की प्रतिमा या तस्वीर के सामने खड़े होकर माता सरस्वती की आरती करें.
  • सायंकाल को भी स्वच्छ होकर माता सरस्वती जी की आरती कर सकतें हैं.
  • सरस्वती माता की पूजा करने के पश्चात सरस्वती माता की आरती करें.

Benefits of Saraswati mata aarti?

  • सरस्वती माता की आरती से मैया सरस्वती की कृपा प्राप्ति होती है.
  • मैया सरस्वती की कृपा से ज्ञान और विद्या की प्राप्ति होती है.
  • विधार्थियों को जीवन में सफलता मिलती है.
  • कलाकारों को अपनी कला में सफलता मिलती है.
  • जीवन में छाये अज्ञान का अन्धकार मिटा है.
  • ज्ञान का प्रकाश जीवन में फैलता है.
  • जीवन में शान्ति मिलती है.

Saraswati Aarti pdf

To download Saraswati ji ki aarti pdf, select the text and copy it. Then save it to pdf formate.

Another method is select the text and copy it. Then save it on wordpad. Then convert it to pdf by the help of online tools.

If You want Saraswat devi aarti direct download link then comment it. I certainly give you direct download link.

सरस्वती माता की आरती पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए आरती को सेलेक्ट करें. उसके बाद उसे कॉपी करके पीडीऍफ़ फ़ॉर्मेट में सेव कर लें.

दूसरा तरीका है, सरस्वती आरती को सेलेक्ट कर लें. फिर उसे वर्डपैड में सेव कर लें. फिर ऑनलाइन टूल्स की मदद से उसे पीडीऍफ़ फ़ॉर्मेट में सेव कर लें.

अगर आपको सरस्वती आरती का डायरेक्ट डाउनलोड लिंक चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में लिखें.

Read More:

Lakshmi Mata Aarti/लक्ष्मी माता की आरती

Durga mata Aarti/दुर्गा माता की आरती

Hanuman Aarti/हनुमान जी की आरती

Leave a Reply

Your email address will not be published.