Shri Ram Chalisa | श्री राम चालीसा – श्री रघुवीर भक्त हितकारी

Ram Chalisa is a great source for the worship of Lord Ram. श्री राम भगवान् को प्रसन्न करने के लिए राम चालीसा एक महामंत्र है.

राम चालीसा के जाप से भगवान् श्री राम प्रसन्न होतें हैं. राम जी की कृपा से मनुष्य का उद्धार हो जाता है. भगवान् राम विष्णु भगवान् के अवतार हैं. उनका अवतरण इस पृथ्वी पर राक्षसों का नाश करने के लिए और धर्म की स्थापना के लिए हुआ था.

इसे भी अवस्य देखें : Shri Ram Stuti

Ram Chalisa

Ram Chalisa
Ram Chalisa

|| श्री राम चालीसा ||

श्री रघुवीर भक्त हितकारी*
सुन लीजै प्रभु अरज हमारी**

निशिदिन ध्यान धरै जो कोई*
ता सम भक्त और नहिं होई**

ध्यान धरे शिवजी मन माहीं*
ब्रह्म इन्द्र पार नहिं पाहीं**

दूत तुम्हार वीर हनुमाना*
जासु प्रभाव तिहूं पुर जाना**

|| जय श्री राम ||

तब भुज दण्ड प्रचण्ड कृपाला*
रावण मारि सुरन प्रतिपाला**

तुम अनाथ के नाथ गुंसाई*
दीनन के हो सदा सहाई**

ब्रह्मादिक तव पारन पावैं*
सदा ईश तुम्हरो यश गावैं**

Get a 70% discount on Shared, WordPress Hosting, and Reseller Hosting. On top of that, you get a free domain registration for one year.

चारिउ वेद भरत हैं साखी*
तुम भक्तन की लज्जा राखीं**

गुण गावत शारद मन माहीं*
सुरपति ताको पार न पाहीं**

नाम तुम्हार लेत जो कोई*
ता सम धन्य और नहिं होई**

राम नाम है अपरम्पारा*
चारिहु वेदन जाहि पुकारा**

गणपति नाम तुम्हारो लीन्हो*
तिनको प्रथम पूज्य तुम कीन्हो**

शेष रटत नित नाम तुम्हारा*
महि को भार शीश पर धारा**

फूल समान रहत सो भारा*
पाव न कोऊ तुम्हरो पारा**

भरत नाम तुम्हरो उर धारो*
तासों कबहुं न रण में हारो**

Get a 70% discount on Shared, WordPress Hosting, and Reseller Hosting. On top of that, you get a free domain registration for one year.

|| सीता राम ||

नाम शक्षुहन हृदय प्रकाशा*
सुमिरत होत शत्रु कर नाशा**

लखन तुम्हारे आज्ञाकारी*
सदा करत सन्तन रखवारी**

ताते रण जीते नहिं कोई*
युद्घ जुरे यमहूं किन होई**

महालक्ष्मी धर अवतारा*
सब विधि करत पाप को छारा**

सीता राम पुनीता गायो*
भुवनेश्वरी प्रभाव दिखायो**

घट सों प्रकट भई सो आई*
जाको देखत चन्द्र लजाई**

सो तुमरे नित पांव पलोटत*
नवो निद्घि चरणन में लोटत**

सिद्घि अठारह मंगलकारी*
सो तुम पर जावै बलिहारी**

औरहु जो अनेक प्रभुताई*
सो सीतापति तुमहिं बनाई**

इच्छा ते कोटिन संसारा*
रचत न लागत पल की बारा**

जो तुम्हे चरणन चित लावै*
ताकी मुक्ति अवसि हो जावै**

जय जय जय प्रभु ज्योति स्वरूपा*
नर्गुण ब्रह्म अखण्ड अनूपा**

सत्य सत्य जय सत्यव्रत स्वामी*
सत्य सनातन अन्तर्यामी**

|| जय श्री राम ||

सत्य भजन तुम्हरो जो गावै*
सो निश्चय चारों फल पावै**

सत्य शपथ गौरीपति कीन्हीं*
तुमने भक्तिहिं सब विधि दीन्हीं**

सुनहु राम तुम तात हमारे*
तुमहिं भरत कुल पूज्य प्रचारे**

तुमहिं देव कुल देव हमारे*
तुम गुरु देव प्राण के प्यारे**

जो कुछ हो सो तुम ही राजा*
जय जय जय प्रभु राखो लाजा**

राम आत्मा पोषण हारे*
जय जय दशरथ राज दुलारे**

ज्ञान हृदय दो ज्ञान स्वरूपा*
नमो नमो जय जगपति भूपा**

धन्य धन्य तुम धन्य प्रतापा*
नाम तुम्हार हरत संतापा**

|| जय श्री राम ||

सत्य शुद्घ देवन मुख गाया*
बजी दुन्दुभी शंख बजाया**

सत्य सत्य तुम सत्य सनातन*
तुम ही हो हमरे तन मन धन**

याको पाठ करे जो कोई*
ज्ञान प्रकट ताके उर होई**

आवागमन मिटै तिहि केरा*
सत्य वचन माने शिर मेरा**

और आस मन में जो होई*
मनवांछित फल पावे सोई**

तीनहुं काल ध्यान जो ल्यावै*
तुलसी दल अरु फूल चढ़ावै**

साग पत्र सो भोग लगावै*
सो नर सकल सिद्घता पावै**

अन्त समय रघुबरपुर जाई*
जहां जन्म हरि भक्त कहाई**

श्री हरिदास कहै अरु गावै*
सो बैकुण्ठ धाम को पावै**

|| दोहा ||

सात दिवस जो नेम कर,
पाठ करे चित लाय*

हरिदास हरि कृपा से,
अवसि भक्ति को पाय**

राम चालीसा जो पढ़े,
राम चरण चित लाय*

जो इच्छा मन में करै,
सकल सिद्घ हो जाय**

|| इति श्री राम चालीसा समाप्त ||

Also Read : Shri Ramchandra ji ki Aarti

Shri Ram Chalisa Lyrics

Shri Ram Chalisa
Shri Ram Chalisa
Ram Chalisa

Shree raghuveer bhakt hitakaaree*
Sun leejai prabhu araj hamaaree**

Nishidin dhyaan dharai jo koee*
Ta sam bhakt aur nahin hoee**

Dhyaan dhare shivajee man maaheen*
Brahm indr paar nahin paaheen**

Doot tumhaar veer hanumaana*
Jaasu prabhaav tihoon pur jaana**

Tab bhuj dand prachand krpaala*
Raavan maari suran pratipaala**

Tum anaath ke naath gunsaee*
Deenan ke ho sada sahaee**

Brahmaadik tav paaran paavain*
Sada eesh tumharo yash gaavain**

Chaariu ved bharat hain saakhee*
Tum bhaktan kee lajja raakheen**

Gun gaavat shaarad man maaheen*
Surapati taako paar na paaheen**

Naam tumhaar let jo koee*
Ta sam dhany aur nahin hoee**

Raam naam hai aparampaara*
Chaarihu vedan jaahi pukaara**

Ganapati naam tumhaaro leenho*
Tinako pratham poojy tum keenho**

Shesh ratat nit naam tumhaara*
Mahi ko bhaar sheesh par dhaara**

Phool samaan rahat so bhaara*
Paav na kooo tumharo paara**

Bharat naam tumharo ur dhaaro*
Taason kabahun na ran mein haaro**

Naam shakshuhan hrday prakaasha*
Sumirat hot shatru kar naasha**

Lakhan tumhaare aagyaakaaree*
Sada karat santan rakhavaaree**

Taate ran jeete nahin koee*
Yudgh jure yamahoon kin hoee**

Mahaalakshmee dhar avataara*
Sab vidhi karat paap ko chhaara**

Seeta raam puneeta gaayo*
Bhuvaneshvaree prabhaav dikhaayo**

Ghat son prakat bhee so aaee*
Jaako dekhat chandr lajaee**

So tumare nit paanv palotat*
Navo nidghi charanan mein lotat**

Siddhi athaarah mangalakaaree*
So tum par jaavai balihaaree**

Aurahu jo anek prabhutaee*
So seetaapati tumahin banaee**

Ichchha te kotin sansaara*
Rachat na laagat pal kee baara**

Jo tumhe charanan chit laavai*
Taakee mukti avasi ho jaavai**

Jay jay jay prabhu jyoti svaroopa*
Nargun brahm akhand anoopa**
Saty saty jay satyavrat svaamee*

~~ Jay Shri Ram~~

Saty sanaatan antaryaamee**
Saty bhajan tumharo jo gaavai*

So nishchay chaaron phal paavai**
Saty shapath gaureepati keenheen*

Tumane bhaktihin sab vidhi deenheen**
Sunahu raam tum taat hamaare*
Tumahin bharat kul poojy prachaare**

Tumahin dev kul dev hamaare*
Tum guru dev praan ke pyaare**

Jo kuchh ho so tum hee raaja*
Jay jay jay prabhu raakho laaja**

Ram aatma poshan haare*
Jay jay dasharath raaj dulaare**

Gyaan hrday do gyaan svaroopa*
Namo namo jay jagapati bhoopa**

Dhany dhany tum dhany prataapa*
Naam tumhaar harat santaapa**

Satya shudgh devan mukh gaaya*
Bajee dundubhee shankh bajaaya**

Satya satya tum saty sanaatan*
Tum hee ho hamare tan man dhan**

Yaako paath kare jo koee*
Gyaan prakat taake ur hoee**

Aavaagaman mitai tihi kera*
Saty vachan maane shir mera**

Aur aas man mein jo hoee*
Manavaanchhit phal paave soee**

Teenahun kaal dhyaan jo lyaavai*
Tulasee dal aru phool chadhaavai**


Saag patr so bhog lagaavai*
So nar sakal sidghata paavai**

Ant samay raghubarapur jaee*
Jahaan janm hari bhakt kahaee**

Shree haridaas kahai aru gaavai*
So baikunth dhaam ko paavai**

~~Doha ~~

Saat divas jo nem kar,
Paath kare chit laay*

Haridaas hari krpa se,
Avasi bhakti ko paay**

Ram chalisa jo padhe,
Raam charan chit laay*

Jo ichchha man mein karai,
Sakal siddh ho jaay**

|| Iti Shri Ram Chalisa Samaapt ||

श्री राम चालीसा का पाठ कैसे करें?

  • राम चालीसा का पाठ किसी भी दिन किया जा सकता है.
  • शुबह स्नान करने के बाद या फिर सायंकाल को राम चालीसा का पाठ करें.
  • राम चालीसा का पाठ राम भगवान् की मूर्ती या फिर तस्वीर के सामने बैठकर करें.
  • पूरी श्रद्धा और भक्ति के साथ राम चालीसा का पाठ करें.
  • राम चालीसा के पाठ के उपरान्त जय श्री राम,जय हनुमान और जय सीता राम का नाम अवस्य उच्चारण करें.
  • उसके पश्चात राम जी की आरती करें.
  • आप राम चालीसा के साथ हनुमान चालीसा का पाठ भी कर सकतें हैं.

राम चालीसा पाठ के लाभ

  • राम चालीसा के पाठ से भगवान् श्री राम,माता सीता और रामभक्त हनुमान जी की कृपा प्राप्ति होती है.
  • भगवान् राम अपने भक्त का उद्धार करते हैं.
  • सभी तरह की समस्याओं का सामना करने की शक्ति भगवान् राम प्रदान करतें हैं.
  • मनुष्य के आत्म बिस्वास में बृद्धि राम चालीसा के पाठ से होती है.
  • सभी तरह की नकारात्मक शक्तियों से भगवान् राम हमारी रक्षा करतें हैं.
  • भगवान् राम हमें सही राह पर चलने की शिक्षा देतें हैं.

Ram Chalisa PDF

Ram Chalisa
Ram Chalisa PDF

If you want Shri Ram Chalisa PDF direct download, Click on Download Button Below.

राम चालीसा को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए पीडीऍफ़ डाउनलोड बटन पर क्लिक करें.

Read More :

Shiv Chalisa/शिव चालीसा

Shani Chalisa/शनि चालीसा

Durga Chalisa/दुर्गा चालीसा

Vishnu Chalisa/विष्णु चालीसा

Lakshmi Chalisa/लक्ष्मी चालीसा

Ganesh Chalisa/गणेश चालीसा

Saraswati Chalisa/सरस्वतीं चालीसा

Get a 70% discount on Shared, WordPress Hosting, and Reseller Hosting. On top of that, you get a free domain registration for one year.

Leave a Comment