santoshi mata ki aarti

Santoshi Mata ki Aarti : Jai Santoshi Mata : Download संतोषी माता आरती

इस पोस्ट में आप लोगों को मिलेगा Santoshi Mata ki Aarti/संतोषी माता की आरती, Santoshi Mata Aarti/संतोषी माता आरती English और हिंदी में. आप Santoshi Mata ki Aarti /संतोषी माता की आरती को download/डाउनलोड भी कर सकतें हैं.जय संतोषी माता/Jai Santoshi Mata.

संतोषी माता की आरती के इस विडियो को अवस्य देखें.

Santoshi Mata ki Aarti Video

संतोषी माता की आरती माता संतोषी को प्रसन्न करने का एक सबसे सफल और सरल माध्यम है. माता संतोषी बड़ी ही दयालु है. उनकी कृपा से मनुष्य को सभी तरह की समस्याओं से मुक्ति मिलती है. माता अपने भक्त की सदा रक्षा करती है.

माता संतोषी की कृपा से मनुष्य को सभी तरह की सुख और शांति की प्राप्ति होती है. जीवन में सफलता माता संतोषी की कृपा से मिलती है.

Santoshi Mata ki Aarti

Santoshi Mata ki Aarti Video
jai santoshi mata
Santoshi Mata Ki Aarti

|| संतोषी माता की आरती ||

जय संतोषी माता, मैया जय संतोषी माता |
अपने सेवक जन को, सुख संपति दाता || मैया जय संतोषी माता ……

जय सुंदर चीर सुनहरी, मां धारण कीन्हो |
हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार लीन्हो ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय गेरू लाल छटा छवि, बदन कमल सोहे |
मंद हँसत करूणामयी, त्रिभुवन जन मोहे ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय स्वर्ण सिंहासन बैठी, चंवर ढुरे प्यारे |
धूप, दीप,नैवेद्द, मधुमेवा, भोग धरें न्यारे ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय गुड़ अरु चना परमप्रिय, तामे संतोष कियो |
संतोषी कहलाई, भक्तन वैभव दियो ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय शुक्रवार प्रिय मानत, आज दिवस सोही |
भक्त मण्डली छाई, कथा सुनत मोही ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय मंदिर जगमग ज्योति, मंगल ध्वनि छाई |
विनय करें हम बालक, चरनन सिर नाई ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय भक्ति भावमय पूजा, अंगीकृत कीजै |
जो मन बसे हमारे, इच्छा फल दीजै ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय दुखी, दरिद्री ,रोगी , संकटमुक्त किए |
बहु धनधान्य भरे घर, सुख सौभाग्य दिए ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय ध्यान धर्यो जिस जन ने, मनवांछित फल पायो |
पूजा कथा श्रवण कर, घर आनंद आयो ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय शरण गहे की लज्जा, राखियो जगदंबे |
संकट तू ही निवारे, दयामयी अंबे ||
मैया जय संतोषी माता ………

जय संतोषी मां की आरती, जो कोई नर गावे |
ॠद्धिसिद्धि सुख संपत्ति, जी भरकर पावे
मैया जय संतोषी माता ………

Santoshi Mata Aarti

santoshi mata ki aarti
Jai Santoshi Mata

Jai Santoshi Mata, Maiya jai Santoshi Mata.
Apne sewak jan ko, sukh sampati data.
Maiya Jay Santoshi Mata. ………

Jai sunder cheer sunahari, maa dharan kinho.
Hira panna damke,Tan shringaar linho.
Maiya Jay Santoshi Mata. …….

Jai geru lal chata chawi, badan kamal sohe.
Mand hasant karunamayi, tribhuwan jan mohe.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……

Jai swarn sinhashan baithi, chanwar dhure pyaare.
Dhup, dip, naiwedd, madhumewa bhog dhare nyaare.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……..

Jai Gur aru chana parampriya, tame santosh kiyo.
Santoshi kahlaayi, Bhaktan waibhaw diyo.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……..

Jai shukrwar priya maanat, aaj diwas sohi.
Bhakt mandli chhayi, katha sunat mohi.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……….

Jai Mandir jagmag jyoti, mangal dhwani chhayi.
Winay kare ham baalak, charnan sir naayi.
Maiya Jai Santoshi Mata. ………

Jai Bhakti Bhawmayi puja, angikrit kijai.
Jo man base hamare, ichchha phal dijai.
Maiya Jay Santoshi Mata. ………

Jai dukhi, daridi, rogi, sankatmukt kiye.
Bahu dhandhaanya bhare ghar, sukh saubhagya diye.
Maiya Jay Santoshi Mata. …..

Jai dhyan dhayo jis jan ne, manwanchhit phal paayo.
Puja katha shrawan kar, Ghar aanand aayo.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……

Jai Sharan gahe ki lajja, rakhiyo jagdambe.
Sankat tu hi niware, dayamayi ambe.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……

Jai Santoshi Maa ki aarti, jo koi nar gaawe.
Riddhi siddhi sukh sampati, ji bharkar paawe.
Maiya Jai Santoshi Mata. ……….

संतोषी माता की आरती कैसे करें?

  • माता संतोषी की आरती के लिए शुक्रवार का दिन सबसे उत्तम होता है.
  • शुक्रवार को माता संतोषी का दिन माना गया है.
  • अगर आप संतोषी माता की पूजा कथा के बाद संतोषी माता की आरती करतें हैं तो यह अत्यंत फलदायक होता है.
  • आप संतोषी माता की आरती अपने घर में संतोषी माता की मूर्ती या तस्वीर के सामने खड़े होकर कर सकतें हैं.
  • अगर आप किसी संतोषी माता के मंदिर में जाकर संतोषी माता की आरती करतें हैं तो यह अत्यंत फल दायक होता है.
  • शुबह और संध्याकाल का समय माता संतोषी की आरती के लिए उत्तम होता है.
  • माता संतोषी की आरती पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ करें.
  • शुक्रवार के दिन किसी भी प्रकार के खट्टे पद्धार्थ का सेवन नहीं करें.

संतोषी माता की आरती से लाभ

jai santoshi aarti
Santoshi Mata
  • माता संतोषी की आरती करने से मैया संतोषी की कृपा प्राप्ति होती है.
  • संतोषी माता की कृपा से मनुष्य को सुख और सम्पति की प्राप्ति होती है.
  • माता की कृपा से मनुष्य के जीवन में शान्ति आती है.
  • रोगों से मुक्ति मिलती है.
  • जीवन में सफलता मिलती है.
  • संतान सुख की प्राप्ति होती है.
  • दुःख और दरिद्रता से मुक्ति मिलती है.
  • जीवन में परम संतोष की प्राप्ति होती है.

Santoshi Mata ki Aarti Download

To download Santoshi Mata ki Aarti in Hindi pdf and Santoshi Mata ki Aarti in English pdf click the below link. You can download and print the Santoshi Mata Aarti.

संतोषी माता की आरती को पीडीऍफ़ फ़ॉर्मेट में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें. आप संतोषी माता की आरती को डाउनलोड भी कर सकतें हैं. आप चाहे तो संतोषी माता आरती को प्रिंट भी कर सकतें हैं.

अगर आप कोई सुझाव देना चाहतें हैं तो कृपया निचे कमेंट बॉक्स में लिखें.

इस websites में आपको सभी देवी देवताओं की आरती और चालीसा का संग्रह मिलेगा जिसे आप डाउनलोड करने के साथ ही प्रिंट भी निकाल सकतें हैं.

आप सभी भक्त जनो से निवेदन है की इस वेबसाइट को बुकमार्क करले और इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें.

आप सभी का धन्यवाद. इन आरतियों को भी पढ़ सकतें हैं……

Vishnu ji ki Aarti/विष्णु भगवान की आरती जगत के पालनहार भगवान विष्णु की कृपा प्राप्ति के लिए

Gayatri Mata Aarti/गायत्री माता की आरती गायत्री माता की कृपा प्राप्ति के लिए

Brihaspati Dev ki Aarti/बृहस्पति देव की आरती देव गुरु बृहस्पति भगवान की कृपा पाने के लिए

Radha ji ki Aarti/राधा रानी की आरती श्री राधे रानी की कृपा प्राप्ति के लिए

Mata Kali ki Aarti/ माता काली की आरती दुष्ट राक्षसों से रक्षा के लिए

Surya Dev ki Aarti/ सूर्य देव की आरती शरीर को निरोगी रखने के लिए.

Krishna ki Aarti/ कृष्ण कन्हैया की आरती भगवान कृष्ण की कृपा पाने के लिए

Shri Ramchandra ki Aarti/ श्री रामचंद्र जी की आरती राम भगवान की कृपा पाने केलिए

Bhairav Aarti/ भगवान काल भैरव की आरती काल भैरव को प्रसन्न करने के लिए

Hanuman Aarti/ हनुमान जी की आरती सभी संकटों से बचाने बाला महामंत्र

Durga Mata Aarti/दुर्गा माता की आरती दुष्ट नकारात्मक शक्तियों का विनाश के लिए

Lakshmi Mata Aarti/लक्ष्मी माता की आरती धन सम्पति की प्राप्ति के लिए

Shani dev Aarti/शनि देव की आरती भगवान शनि देव की कृपा पाने के लिए

Hanuman Chalisa / हनुमान चालीसा इस घोर कलयुग में मनुष्य का सबसे बड़ा सहारा

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment