Shri Jagannath Aarti : भगवान जगन्नाथ की आरती

Jagannath Aarti / भगवान जगन्नाथ की आरती बाबा जगन्नाथ की आराधना करने और उनकी कृपा प्राप्त करने का एक सफल माध्यम है.

Also Read : Chaturbhuja Jagannatha Kantha Sobhita Koustubha

भगवान जगन्नाथ ओड़िसा के पूरी में विराजते हैं. बाबा जगन्नाथ का धाम चार धामों में से एक है. वास्तव में भगवान जगन्नाथ विष्णु भगवान के ही रूप माने गए हैं.

जगन्नाथ भगवान की रथ यात्रा के समय बाबा जगन्नाथ के भक्तों की भाड़ी भीड़ पूरी में उमड़ती है. लाखों लोग भगवान जगन्नाथ के रथ को खीचने के लिए लालायित रहतें हैं.

भगवान जगन्नाथ बहुत ही दयालु हैं. वे सदा अपने भक्तों पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखतें हैं.

पूरी के जगन्नाथ मंदिर की अपनी बहुत सी विशेषता है. यह मंदिर पुरे विश्व में काफी प्रसिद्द है. भगवान जगन्नाथ के भक्तों की अपने आराध्य बाबा जगन्नाथ पर अपार श्रद्धा है.

इस आर्टिकल में आप लोगों के लिए जगन्नाथ आरती / Jagannath Aarti प्रकाशित कर रहा हूँ. आप चाहे तो Jagannath Aarti / भगवान जगन्नाथ की आरती को डाउनलोड भी कर सकतें हैं.

इसे भी देखें श्री जगन्नाथ आरती : चतुर्भुज जगन्नाथ कांता शोभिता कौस्तुभ

Jagannath Aarti

Jagannath Aarti

भगवान जगन्नाथ की आरती

आरती श्री जगन्नाथ मंगलकारी,
परसत चरणारविन्द आपदा हरी।
निरखत मुखारविंद आपदा हरी,
कंचन धूप ध्यान ज्योति जगमगी।
अग्नि कुण्डल घृत पाव सथरी।


आरती श्री जगन्नाथ मंगलकारी,
देवन द्वारे ठाड़े रोहिणी खड़ी,
मारकण्डे श्वेत गंगा आन करी।
गरुड़ खम्भ सिंह पौर यात्री जुड़ी,
यात्री की भीड़ बहुत बेंत की छड़ी।


आरती श्री जगन्नाथ मंगलकारी,
धन्य-धन्य सूरश्याम आज की घड़ी।

आरती श्री जगन्नाथ मंगलकारी.

Jagannath Baba ki Aarti

jagannath baba ki aarti
jagannath aarti

Aarti Shri Jagannath Mangalkari,
Parsat Charnarwind Aapda haari.
Nirkhat Mukharwind Aapda Haari.
Kanchan Thar Dhup deep jyoti Jagmagi.
Agnikund ghirat paaw paaw Saathri.
Aarti Shri Jagannath Mangalkari…….

Dewan Dware Thade rohini khadi.
Markande Shwet Ganga Aan ke bhari.
Garud Khambh Sinh paur yatra judi.
Yatra ki bheed bahut bent ki chhadi.
Aarti Shri Jagannath Mangalkari……
Dhanya Dhanya surshyam aaj ki ghari.
Aarti Shri Jagannath mangalkari…….

जगन्नाथ भगवान की आरती कैसे करें

भगवान जगन्नाथ की आरती आप किसी भी दिन कर सकतें हैं.

आरती के लिए शुबह और सायं काल का समय उत्तम होता है.

आप अगर भगवान जगन्नाथ के धाम पूरी में जाकर आरती करतें है तो यह बहुत ही अच्छा है.

आप अपने घर में भी भगवान जगन्नाथ की आरती कर सकतें हैं.

भगवान जगन्नाथ की आरती जगन्नाथ जी की तस्वीर या मूर्ती के सामने खड़े होकर ही करें.

सर्व प्रथम स्नान आदि कर लें.

उसके पश्चात सम्पूर्ण श्रद्धा के साथ भगवान जगन्नाथ की आरती करें.

भगवान जगन्नाथ की आरती से लाभ

jagannath rath yatra
bhagwan jagannath rath yatra
  • जगन्नाथ भगवान की सच्चे मन से की गयी आराधना कभी भी निष्फल नहीं जाती है.
  • भगवान जगन्नाथ सदा अपने भक्त की मनोकामना पूर्ण करतें हैं.
  • उनकी कृपा से मनुष्य को समस्त रोगों से मुक्ति मिल जाती है.
  • निर्धनता और दरिद्रता का नाश होता है.
  • भगवान जगन्नाथ की आरती जो भी भक्त सच्चे मन से गाता है भगवान जगन्नाथ उसकी मनोकामना अवस्य पूर्ण करतें हैं.
  • जीवन में सफलता मिलती है.
  • जगन्नाथ भगवान विष्णु जी के ही रूप माने जाते हैं इसलिए उनकी आराधना से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है.

Jagannath Aarti Download

jagannath aarti
jagannath temple

To download Jagannath Aarti click the pdf download link below. You can also print it.

जगन्नाथ भगवान की आरती को डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें. आप चाहे तो इसे प्रिंट भी कर सकतें हैं.

भगवान जगन्नाथ की आरती के प्रकाशन में पूर्णतया सावधानी बरती गयी है फिर भी अगर कोई त्रुटी रह गयी हो तो आप सबसे निवेदन है की कृपया निचे कमेंट बॉक्स में लिखें. हम उसे सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे.

भगवान जगन्नाथ आप सब भक्तों की मनोकामना पूर्ण करें.

जय जगन्नाथ

बाबा केदारनाथ की आरती / Lord Kedarnath Aarti

बद्रीनाथ भगवान की आरती / Lord Badrinath Aarti

शंकर भगवान की आरती / Lord Shankar Aarti

विष्णु भगवान की आरती / Lord Vishnu Aarti

हनुमान जी की आरती / Lord Hanuman Aarti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *