Kedarnath Aarti : भगवान केदारनाथ की आरती

Kedarnath Aarti is a great source to please Lord Kedarnath. केदारनाथ आरती भगवान केदार नाथ को प्रसन्न करने का एक महत्वपूर्ण साधन है.

केदारनाथ धाम भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है. यह हिमालय पर स्थित है. केदारनाथ धाम के कपाट अक्षय तृतीया के दिन खोले जाते हैं. शीतकाल में बाबा केदार उखीमठ में विराजते हैं.

भगवान शिव (Shiv ) के प्रसिद्द ज्योतिर्लिंग में केदारनाथ भी है.. हर साल लाखों श्रद्धालु यहाँ बाबा केदार क दर्शन के लिए आतें है.

केदारनाथ धाम की यात्रा चार धाम में भी की जाती है. गंगोत्री, यमनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ को मिलाकर चार धाम की यात्रा पूर्ण होती है.

इस पोस्ट में मैं केदारनाथ जी की आरती / Kedarnath Aarti प्रकाशित कर रहा हूँ.

Kedarnath Aarti

भगवान केदारनाथ की आरती

जय केदार उदार शंकर,
मन भयंकर दुःख हरम.
गौरी गणपति स्कन्द नंदी,
श्री केदार नमाम्यहम.

शैल सुन्दर अति हिमालय,
शुभ मंदिर सुन्दरम.
निकट मन्दाकिनी सरस्वती,
जय केदार नमाम्यहम.

उदक कुण्ड है अधम पावन,
रेतस कुण्ड मनोहरम.
हंस कुण्ड समीप सुन्दर,
जय केदार नमाम्यहम.

अन्नपूर्णा सह अर्पणा,
काल भैरव शोभितम.
पंच पाण्डव द्रोपदी सह,
जय केदार नमाम्यहम.

शिव दिगम्बर भस्मधारी,
अर्द्ध चन्द्र विभूषितम.
शीश गंगा कंठ फणिपति,
जय केदार नमाम्यहम.

कर त्रिशूल विशाल डमरू,
ज्ञान गान विशारदम.
मद्महेश्वर तुंग ईश्वर,
रूद्र कल्प महेश्वरम.
पंच धन्य विशाल आलय,
जय केदार नमाम्यहम.

नाथ पावन हे विशालम.
पुण्यप्रद हर दर्शनम्.
जय केदार उदार शंकर,
पाप ताप नमाम्यहम.

Badrinath ji ki Aarti : भगवान श्री बद्रीनाथ जी की आरती

Kedarnath Aarti in Englsih

Jai Kedar Udar Shankar
kedarnath aarti

Jai Kedar udar Shankar,
Man Bhayankar dukh haram.
Gauri Ganpati Skand Nandi,
Shri Kedar Namamyahm.

Shail sundar ati Himalaya,
Shubh mandir sundaram.
Nikat Mandakini Saraswati,
Jai Kedar Namamyahm.

Udak Kund hai adham paawan,
Retus Kund manoharam.
Hans Kund samip sundar,
Jai Kedar Namamyahm.

Annpurna sah arpana,
Kaal Bhairav shobhitam.
Panch Paandav Dropadi sah,
Jai Kedar Namamyahm.

Shiv Digambar Bhasmdhari,
Ardh Chandra wibhushitam.
Shish Ganga Kanth Phanipati,
Jai Kedar Namamyahm.

Kar Trishul wishal Damru,
Gyan gaan wisharadam.
Madmaheshwar Tung Ishwar,
Rudra kalp Maheshwaram.
Panch dhanya wishal aalay,
jai Kedar Namamyahm.

Get a 70% discount on Shared, WordPress Hosting, and Reseller Hosting. On top of that, you get a free domain registration for one year.

Naath paawan he Wishalam.
Punyprad har darshnam.
Jai Kedar Udar Shankar,
Paap Taap Namamyahm.

केदारनाथ जी की आरती कैसे करें

भगवान केदारनाथ की आरती आप जब केदारनाथ धाम की यात्रा पर केदार बाबा के दर्शन उपरान्त करें. केदारनाथ धाम की संध्या आरती में सम्मिलित होयें. आप चाहे तो अपने घर में भी केदारनाथ भगवान की आरती कर सकतें हैं.

केदारनाथ भगवान की आरती सम्पूर्ण भक्ति के साथ करें. मन को बाबा भोलेनाथ में लागाये रखें. उनसे कृपा प्राप्ति का वरदान मांगे. बाबा केदार बहुत ही दयालु हैं. वे सदा अपने भक्तों की मनोकामना पूर्ण करतें है.

केदारनाथ जी की आरती से लाभ

  • भगवान केदारनाथ की आरती से मनुष्य को भोलेनाथ शिव की कृपा प्राप्ति होती है.
  • शिव भगवान बड़े ही दयालु हैं. वे सदा अपने भक्तों पर अपनी कृपा दृष्टि बनाये रखतें हैं.
  • भगवान केदारनाथ की कृपा से मनुष्य की सभी मनोकामना पूर्ण होती है.
  • केदारनाथ धाम की यात्रा से मनुष्य के समस्त पापों का नाश हो जाता है.
  • बाबा केदारनाथ की कृपा से मनुष्य को समस्त प्रकार के कष्टों से छुटकारा मिल जाता है.
  • शुख शान्ति की प्राप्ति आती है.
  • मन के विकारों से मुक्ति मिलती है.
  • धन बैभव की प्राप्ति होती है.

Kedarnath Aarti Download

To download Kedarnath Aarti in Hindi and Kedarnath aarti in English pdf click the pdf download link below. If you want you can also print Kedarnath Aarti.

केदारनाथ आरती को डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए डाउनलोड्स बटन पर क्लिक करें. आप चाहे तो केदारनाथ आरती को प्रिंट भी कर सकतें हैं.

केदारनाथ जी की आरती के प्रकाशन में पूर्णतया सावधानी बरती गयी है फिर अगर कोई त्रुटी रह गयी हो तो कृपया कमेंट बॉक्स में लिखें. केदारनाथ धाम की यात्रा करने वाले अपने रिश्तेदारों और मित्रों को इसे शेयर करें.

भगवान केदारनाथ बाबा आप सबकी मनोकामना पूर्ण करें.

जय बाबा केदार.

राम जी की आरती / Lord Ram Aarti

बजरंगबली की आरती / Lord Hanuman Aarti

Parwati Aarti : पार्वती माता की आरती Parvati Mata Ki Aarti

Vishnu Bhagwan ki Aarti भगवान विष्णु की आरती Om jai Jagdish Hare

Leave a Comment