नर्मदा जी की आरती | Narmada Maiya Ji Ki Aarti

नर्मदा जी की आरती | Narmada Maiya Ji Ki Aarti

Narmada Ji Ki Aarti

नर्मदा जी की आरती

ॐ जय जगदानन्दी,
मैया जय आनंद कन्दी ।
ब्रह्मा हरिहर शंकर, रेवा
शिव हरि शंकर, रुद्रौ पालन्ती ॥
ॐ जय जगदानन्दी………….

देवी नारद सारद तुम वरदायक,
अभिनव पदचण्डी ।
सुर नर मुनि जन सेवत,
सुर नर मुनि…
शारद पदवन्ती ।
ॐ जय जगदानन्दी………….

देवी धूमक वाहन राजत,
वीणा वाद्यन्ती।
झुमकत-झुमकत-झुमकत,
झननन झननन रमती राजन्ती ।
ॐ जय जगदानन्दी………….

देवी बाजत ताल मृदंगा,
सुर मण्डल रमती ।
तोड़ीतान-तोड़ीतान-तोड़ीतान,
तुरड़ड़ तुरड़ड़ रमती सुरवन्ती ।
ॐ जय जगदानन्दी………….

देवी सकल भुवन पर आप विराजत,
निशदिन आनन्दी ।
गावत गंगा शंकर, सेवत रेवा
शंकर तुम भव मेटन्ती ।
ॐ जय जगदानन्दी………….

मैयाजी को कंचन थार विराजत,
अगर कपूर बाती ।
अमरकंठ में विराजत,
घाटन घाट ,
कोटि रतन ज्योति ।
ॐ जय जगदानन्दी………….

मैयाजी की आरती,
निशदिन पढ़ीं गा‍वें,
हो रेवा जुग-जुग नर गावें,
भजत शिवानन्द स्वामी
जपत हरि मनवांछित पावे।

ॐ जय जगदानन्दी,
मैया जय आनंद कन्दी ।
ब्रह्मा हरिहर शंकर, रेवा
शिव हरि शंकर, रुद्रौ पालन्ती ॥

https://www.youtube.com/watch?v=smNSk2TEKwc

Narmada Ji Ki Aarti Hindi PDF

मैया नर्मदा जी की आरती को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए पीडीऍफ़ डाउनलोड बटन पर क्लिक करें.

इन्हें भी पढ़ें :

Narmada Ji Ki Aarti in English Lyrics

गंगा मैया की आरती

मैया पार्वती आरती

मैया अन्नपूर्णा आरती

शिव जी की आरतियों का संग्रह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *