Shri Anantnath Ki Aarti श्री अनन्तनाथ की आरती

Shri Anantnath Ki Aarti श्री अनन्तनाथ की आरती – श्री अनन्तनाथ जी की आरती विडियो के साथ आप सबके लिए प्रकाशित की गयी है.

Shri Anantnath Ki Aarti श्री अनन्तनाथ की आरती

|| श्री अनन्तनाथ जी की आरती ||

करते हैं प्रभु की आरती, आतम की ज्योति जलेगी |
प्रभुवर अनंत की भक्ति, सदा सोख्य भरेगी, सदा सोख्य भरेगी ||

हे त्रिभुवन स्वामी, हे अन्तरयामी |
हे त्रिभुवन स्वामी, हे अन्तरयामी |

हे सिंहसेन के राज दुलारे, जयश्यामा के प्यारे |
साकेतपूरी के तुम नाथ, गुणाकार तुम न्यारे ||
तेरी भक्ति से हर प्राणी में, शक्ति जगेगी, प्राणी में शक्ति जगेगी |

हे त्रिभुवन स्वामी, हे अन्तरयामी |
हे त्रिभुवन स्वामी, हे अन्तरयामी |

वदि ज्येष्ठ द्वादशी में प्रभुवर, दीक्षा को धारा था |
चैत्री मावस में ज्ञान कल्याणक उत्सव प्यारा था ||
प्रभु की दिव्यध्वनि दिव्यज्ञान, आलोक भरेगी, ज्ञान आलोक भरेगी ||

हे त्रिभुवन स्वामी, हे अन्तरयामी |
हे त्रिभुवन स्वामी, हे अंतर्यामी |

श्री अनन्तनाथ की आरती विडियो

अनन्तनाथ जी की आरती विडियो निचे दिया गया है. आप इस विडियो को अवस्य देखें.

Shri Anantnath Aarti

Source : YouTube Video

Read more

Shri Anantnath Chalisa श्री अनंतनाथ चालीसा

Gautam Swami Ji Ki Aarti गौतम स्वामी जी की आरती

Chaubis Tirthankar Ki Aarti चौबीस तीर्थंकर की आरती

Shri Ghantakarna Mahaveer Aarti श्री घंटाकर्ण महावीर आरती

Shantinath Bhagwan Ki Aarti शांतिनाथ भगवान की आरती

Padmavati Mata Ki Aarti पद्मावती माता की आरती

Panch Parmeshthi Ki Aarti पंच परमेष्ठी की आरती

Chandra Prabhu Aarti चन्द्र प्रभु आरती

Shri Parshvanath Bhagwan ki Aarti श्री पार्श्वनाथ भगवान की आरती

Bahubali Bhagwan Ki Aarti बाहुबली भगवान की आरती

Aadinath Bhagwan Ki Aarti आदिनाथ भगवान की आरती

Manibhadra Veer Aarti मणिभद्रवीर आरती

जैन धर्म के बारे में विस्तृत व्याख्या विकिपीडिया पर की गयी है. विकिपीडिया पर जाएँ.

Leave a Comment

error: Content is protected !!