Bhaye Pragat Kripala : भये प्रकट कृपाला

Bhaye Pragat Kripala : भये प्रकट कृपाला : प्रभु श्री रामचंद्र जी के जन्मोत्सव पर सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ उनकी आराधना और स्तुति करें.प्रभु श्री रामचंद्र जी की यह स्तुति बहुत ही प्रसिद्ध और शुभ फलदायक है.

प्रभु रामचंद्र जी की यह स्तुति का पाठ करने से मन और ह्रदय को असीम शान्ति का अनुभव होता है.

प्रेम से और ह्रदय से बोलिए जय श्री राम, और इस स्तुति का पाठ शुरू करिये.

Bhaye Pragat Kripala : भये प्रकट कृपाला

Bhaye Pragat Kripala

|| भये प्रकट कृपाला ||

भये प्रकट कृपाला दीन दयाला,
कौशिल्या हितकारी ।
हरषित महतारी, मुनि मन हारी,
अद्भुत रूप निहारी ॥

लोचन अभिरामा, तनु घनश्यामा,
निज आयुध भुजचारी ।
भूषण बन माला, नयन विशाला,
शोभा सिंधु खरारी ॥

कह दुइ कर जोरी, स्तुति तोरी,
केहि विधि करूं अनंता ।
माया गुण ग्यानातीत अमाना,
वेद पुराण भनंता ॥

करुणा सुख सागर, सब गुन आगर,
जेहि गावहिं श्रुति संता ।
सो मम हित लागी, जन अनुरागी,
प्रकट भये श्रीकंता ॥

ब्रह्मांड निकाया, निर्मित माया,
रोम रोम प्रति वेद कहे ।
मम उर सो वासी, यह उपहासी,
सुनत धीर मति थिर न रहे ॥

उपजा जब ज्ञाना, प्रभु मुसुकाना,
चरित बहुत बिधि कीन्ह चहे ।
कहि कथा सुनाई, मातु बुझाई,
जेहि प्रकार सुत प्रेम लहे ॥

माता पुनि बोली, सो मति डोली,
तजहुँ तात यह रूपा ।
कीजे शिशुलीला, अति प्रियशीला,
यह सुख परम अनूपा ॥

सुनि वचन सुजाना, रोदन ठाना,
होइ बालक सुरभूपा ।
यह चरित जे गावहिं, हरिपद पावहिं,
ते न परहिं भवकूपा ॥

|| दोहा ||

बिप्र धेनु सुर संत हित,
लीन्ह मनुज अवतार ।
निज इच्छा निर्मित तनु,
माया गुन गो पार ॥

Bhaye Pragat Kripala Lyrics

Bhaye Pragat Kripala Lyrics

Bhaye Pragat Kripala Din Dayala,
Koushilya Hitkari.
Harshit Mahtari, Muni Man Hari,
Adbhut Rup Nihari.

Lochan Abhirama, Tanu Ghanshyama,
Nij Aayudh Bhujchari.
Bhushan Ban Mala, Nayan Vishala.
Sobha Sindhu Kharari.

Kah Dui Kar Jori, Stuti Tori,
Kehi Vidhi Karun Ananta.
Maya Gun Gyanatit Amana,
Ved Puran Bhananta.

Karuna Sukh Sagar, Sab Gun Aagar,
Jehi Gaavahin Shruti Santa.
So Mam Hit Lagi, Jan Anuragi,
Pragat Bhaye Shrikanta.

Brahamand Nikaya, Nirmit Maya,
Rom Rom Prati Ved Kahe.
Mam Ur So Vasi, Yah Uphasi,
Sunat Dhir Mati Thir Na Rahe.

Upja Jab Gyana, Prabhu Musukana,
Charit Bahut Bidhi kinha Chahe.
Kahi Katha Sunai, Matu bujhai,
Jehi Prakar Sut Prem Lahe.

Mata Puni Boli, So Mati Doli,
Tajahun Taat Yah Rupa.
Kije Shishulila, Ati Priyashila,
Yah Sukh Param Anoopa.

Suni Vachan Sujana, Rodan Thana,
Hoi Balak Surbhupa.
Yah Charit Je Gavahin, Haripad Pavahin,
Te Na Parahin Bhavkupa.

|| Doha ||

Bipra Dhenu Sur Sant hit,
Linha Manuj Avataar.
Nij Ichcha Nirmit Tanu,
Maya Gun Go Paar.

Video : विडियो

Bhaye Pragat Kripala
भये प्रकट कृपाला विडियो
भये प्रकट कृपाला जया किशोरी जी विडियो
Bhaye Pragat Kripala Maithili Thakur Video
Bhaye Pragat Kripala Jagjit Singh YouTube Video
भये प्रगट कृपाला ओल्ड यूट्यूब विडियो

Mp3 Audio

प्रभु श्री रामचंद्र जी से संबंद्धित भजन की लिस्ट निचे दी गयी है. आप इन्हें अवस्य सुने. श्री रामचंद्र जी के इन भजन को सुनने के लिए आप प्ले बटन को दबाएँ.

आप इस राम जन्म भजन को निचे दिए गए बटन को दबाकर भी सुन सकतें हैं. इससे आप अन्य म्यूजिक के साईट पर चले जायेंगे. जहाँ से आप इसे फ्री में सुन पायेंगे.

Bhaye Pragat Kripala Hindi PDF Download

भये प्रकट कृपाला राम जन्म भजन को हिंदी पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए पीडीऍफ़ फाइल के सामने का डाउनलोड बटन दबाएँ.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी आप एक बार जरुर देखें और लाभ उठायें.

Shri Ram Stuti : Shri Ramchandra Kripalu bhaj man | राम स्तुति

Ramchandra ji ki aarti | श्री रामचंद्र जी की आरती | Shri Ramchandra ji ki Aarti


Ram Aarti : राम आरती : Ram ji ki Aarti

Raghuvar Shri Ramchandraji Ki Aarti – रघुवर श्री रामचंद्र जी की आरती

Uttar Kand : रामचरितमानस उत्तर काण्ड Ramcharitmanas Uttar Kand

Lanka Kand Ramayan : रामचरितमानस लंका काण्ड Ramcharitmanas

Sunderkand : सुन्दरकाण्ड Sunderkand Ka Path, PDF, Video, Chaupai


Kishkindha Kand : रामचरितमानस किष्किन्धा काण्ड, चौपाई, विडियो, पीडीऍफ़

Aranya Kand : रामचरितमानस अरण्यकाण्ड Ramcharitmanas Aranya Kand

Ayodhya Kand : रामचरितमानस अयोध्याकाण्ड Ramcharitmanas Ayodhyakand

Bal Kand : Ramcharitmanas Bal Kand रामचरितमानस बाल काण्ड, पाठ, विडियो

Ram Raksha Stotra in Hindi, PDF, Download | श्री राम रक्षा स्तोत्रम्

Ramayan Aarti : रामायण आरती : Aarti Ramayan ji ki

Leave a Comment

error: Content is protected !!