Shiv Tandav Stotram Lyrics : शिवताण्डवस्तोत्रम्

Shiv Tandav Stotram Lyrics | शिवताण्डवस्तोत्रम् रावण द्वारा रचित महादेव शिव का एक महामन्त्र है. हिन्दू धर्म ग्रंथों के अनुसार शिवताण्डवस्तोत्रम् के पाठ से मनुष्य को महादेव शिव की कृपा प्राप्त होती है.

जैसा की आप सब लोगों को पता है की रावण महादेव शिव का एक सच्चा भक्त था. उसकी राक्षस प्रवृति के कारण उसका श्री राम ने अंत किया था. उसके द्वारा रचित शिवताण्डवस्तोत्रम् आज भी अजर अमर है.

shiv
Shiv Tandav Stotram

महादेव शिव की कृपा प्राप्ति के लिए आप भी शिवताण्डवस्तोत्रम् का पाठ कर सकतें हैं.

इस पोस्ट में आप लोगों को शिवताण्डवस्तोत्रम् हिंदी और इंग्लिश में अर्थ के साथ मिलेगी. आप इसे डाउनलोड भी कर सकतें हैं. डाउनलोड लिंक निचे दिया गया है.

Shiv Tandav Stotram Lyrics

निचे शिवताण्डवस्तोत्रम् रावण द्वारा रचित ( Shiv Tandav Stotram by Ravana ) दी जा रही है.

mahadev shiv image
Shiv

Shiv Tandav Stotram By Ravana

श्री गणेशाय नमः

शिवताण्डवस्तोत्रम्

जटा टवी गलज्जल प्रवाह पावितस्थले,
गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजङ्ग तुङ्ग मालिकाम् |
डमड्डमड्डमड्डमन्निनाद वड्डमर्वयं,
चकार चण्डताण्डवं तनोतु नः शिवः शिवम् || 1 ||

जटा कटा हसंभ्रम भ्रमन्निलिम्प निर्झरी,
विलो लवी चिवल्लरी विराजमान मूर्धनि |
धगद् धगद् धगज्ज्वलल् ललाट पट्ट पावके
किशोर चन्द्र शेखरे रतिः प्रतिक्षणं मम || 2 ||

धरा धरेन्द्र नंदिनी विलास बन्धु बन्धुरस्
फुरद् दिगन्त सन्तति प्रमोद मानमानसे |
कृपा कटाक्ष धोरणी निरुद्ध दुर्धरापदि
क्वचिद् दिगम्बरे मनो विनोदमेतु वस्तुनि || 3 ||

लता भुजङ्ग पिङ्गलस् फुरत्फणा मणिप्रभा
कदम्ब कुङ्कुमद्रवप् रलिप्तदिग्व धूमुखे |
मदान्ध सिन्धुरस् फुरत् त्वगुत्तरीयमे
दुरे मनो विनोद मद्भुतं बिभर्तु भूतभर्तरि || 4 ||

सहस्र लोचनप्रभृत्य शेष लेखशेखर
प्रसून धूलिधोरणी विधूस राङ्घ्रि पीठभूः |
भुजङ्ग राजमालया निबद्ध जाटजूटक
श्रियै चिराय जायतां चकोर बन्धुशेखरः || 5 ||

shiva
Mahadev Shiv

ललाट चत्वरज्वलद् धनञ्जयस्फुलिङ्गभा
निपीत पञ्चसायकं नमन्निलिम्प नायकम् |
सुधा मयूखले खया विराजमानशेखरं
महाकपालिसम्पदे शिरोज टालमस्तु नः || 6 ||

कराल भाल पट्टिका धगद् धगद् धगज्ज्वल
द्धनञ्जयाहुती कृतप्रचण्ड पञ्चसायके |
धरा धरेन्द्र नन्दिनी कुचाग्र चित्रपत्रक
प्रकल्प नैक शिल्पिनि त्रिलोचने रतिर्मम || 7 ||

नवीन मेघ मण्डली निरुद् धदुर् धरस्फुरत्-
कुहू निशीथि नीतमः प्रबन्ध बद्ध कन्धरः |
निलिम्प निर्झरी धरस् तनोतु कृत्ति सिन्धुरः
कला निधान बन्धुरः श्रियं जगद् धुरंधरः ||8 ||

प्रफुल्ल नीलपङ्कज प्रपञ्च कालिम
प्रभा- वलम्बि कण्ठकन्दली रुचिप्रबद्ध कन्धरम् |
स्मरच्छिदं पुरच्छिदं भवच्छिदं मखच्छिदं
गजच्छि दांध कच्छिदं तमंत कच्छिदं भजे || 9 ||

अखर्व सर्व मङ्गला कला कदंब मञ्जरी
रस प्रवाह माधुरी विजृंभणा मधुव्रतम् |
स्मरान्तकं पुरान्तकं भवान्तकं मखान्तकं
गजान्त कान्ध कान्त कं तमन्त कान्त कं भजे || 10 ||

shiv tandav stotra
Mahadev Shiv

जयत् वदभ्र विभ्रम भ्रमद् भुजङ्ग मश्वस – द्विनिर्ग
मत् क्रमस्फुरत् कराल भाल हव्यवाट् |
धिमिद्धिमिद्धिमिध्वनन्मृदङ्गतुङ्गमङ्गल
ध्वनिक्रमप्रवर्तित प्रचण्डताण्डवः शिवः || 11 ||

स्पृषद्विचित्रतल्पयोर्भुजङ्गमौक्तिकस्रजोर्- –
गरिष्ठरत्नलोष्ठयोः सुहृद्विपक्षपक्षयोः |
तृष्णारविन्दचक्षुषोः प्रजामहीमहेन्द्रयोः
समप्रवृत्तिकः ( समं प्रवर्तयन्मनः) कदा सदाशिवं भजे ||12 ||

कदा निलिम्पनिर्झरीनिकुञ्जकोटरे वसन्
विमुक्तदुर्मतिः सदा शिरः स्थमञ्जलिं वहन् |
विमुक्तलोललोचनो ललामभाललग्नकः
शिवेति मंत्रमुच्चरन् कदा सुखी भवाम्यहम् || 13 ||

इदम् हि नित्यमेवमुक्तमुत्तमोत्तमं स्तवं
पठन्स्मरन्ब्रुवन्नरो विशुद्धिमेतिसंततम् |
हरे गुरौ सुभक्तिमाशु याति नान्यथा गतिं
विमोहनं हि देहिनां सुशङ्करस्य चिंतनम् || 14 ||

पूजा वसान समये दशवक्त्र गीतं
यः शंभु पूजन परं पठति प्रदोषे |
तस्य स्थिरां रथगजेन्द्र तुरङ्ग
युक्तां लक्ष्मीं सदैव सुमुखिं प्रददाति शंभुः || 15 ||

इति श्रीरावण- कृतम् शिव- ताण्डव- स्तोत्रम् सम्पूर्णम्

Shiv Tandav Stotram Lyrics in English

shiva
Shiv Tandav Stotram

Jatatavigalajjala pravahapavitasthale
Galeavalambya lambitam bhujangatungamalikam
Damad damad damaddama ninadavadamarvayam
Chakara chandtandavam tanotu nah shivah shivam ||1||
Jata kata hasambhrama bhramanilimpanirjhari
Vilolavichivalarai virajamanamurdhani
Dhagadhagadhagajjva lalalata pattapavake
Kishora chandrashekhare ratih pratikshanam mama ||2||
Dharadharendrana ndinivilasabandhubandhura
Sphuradigantasantati pramodamanamanase
Krupakatakshadhorani nirudhadurdharapadi
Kvachidigambare manovinodametuvastuni ||3||
Jata bhujan gapingala sphuratphanamaniprabha
Kadambakunkuma dravapralipta digvadhumukhe
Madandha sindhu rasphuratvagutariyamedure
Mano vinodamadbhutam bibhartu bhutabhartari ||4||
Sahasra lochana prabhritya sheshalekhashekhara
Prasuna dhulidhorani vidhusaranghripithabhuh
Bhujangaraja malaya nibaddhajatajutaka
Shriyai chiraya jayatam chakora bandhushekharah ||5||

shiv tandav stotram
Shiv Tanadav Stotram


Lalata chatvarajvaladhanajnjayasphulingabha
Nipitapajnchasayakam namannilimpanayakam
Sudha mayukha lekhaya virajamanashekharam
Maha kapali sampade shirojatalamastu nah ||6||
Karala bhala pattikadhagaddhagaddhagajjvala
Ddhanajnjaya hutikruta prachandapajnchasayake
Dharadharendra nandini kuchagrachitrapatraka
Prakalpanaikashilpini trilochane ratirmama ||7||
Navina megha mandali niruddhadurdharasphurat
Kuhu nishithinitamah prabandhabaddhakandharah
Nilimpanirjhari dharastanotu krutti sindhurah
Kalanidhanabandhurah shriyam jagaddhurandharah ||8||
Praphulla nila pankaja prapajnchakalimchatha
Vdambi kanthakandali raruchi prabaddhakandharam
Smarachchidam purachchhidam bhavachchidam makhachchidam
Gajachchidandhakachidam tamamtakachchidam bhaje ||9||
Akharvagarvasarvamangala kalakadambamajnjari
Rasapravaha madhuri vijrumbhana madhuvratam
Smarantakam purantakam bhavantakam makhantakam
Gajantakandhakantakam tamantakantakam bhaje ||10||

Shiv Tandav Stotram English Lyrics
Shiv Tandav Stotram Lyrics in English


Jayatvadabhravibhrama bhramadbhujangamasafur
Dhigdhigdhi nirgamatkarala bhaal havyavat
Dhimiddhimiddhimidhva nanmrudangatungamangala
Dhvanikramapravartita prachanda tandavah shivah ||11||
Drushadvichitratalpayor bhujanga mauktikasrajor
Garishtharatnaloshthayoh suhrudvipakshapakshayoh
Trushnaravindachakshushoh prajamahimahendrayoh
Sama pravartayanmanah kada sadashivam bhaje ||12||
Kada nilimpanirjhari nikujnjakotare vasanh
Vimuktadurmatih sada shirah sthamajnjalim vahanh
Vimuktalolalochano lalamabhalalagnakah
Shiveti mantramuchcharan sada sukhi bhavamyaham ||13||
Imam hi nityameva muktamuttamottamam stavam
Pathansmaran bruvannaro vishuddhimeti santatam
Hare gurau subhaktimashu yati nanyatha gatim
Vimohanam hi dehinam sushankarasya chintanam ||14||
Puja vasanasamaye dashavaktragitam
Yah shambhupujanaparam pathati pradoshhe
Tasya sthiram rathagajendraturangayuktam
Lakshmim sadaiva sumukhim pradadati shambhuh ||15||

Shiv Tandav Stotram Meaning

shiv tandav stotram lyrics
Shiv Tandav Stotram

जिन शिव जी की सघन, वनरूपी जटा से प्रवाहित हो गंगा जी की धाराएं उनके कंठ को प्रक्षालित करती हैं,जिनके गले में बडे एवं लम्बे सर्पों की मालाएं लटक रहीं हैं, तथाजो शिव जी डम-डम डमरू बजा कर प्रचण्ड ताण्डव करते हैं,वे शिवजी हमारा कल्याण करें || 1 ||

जिन शिव जी के जटाओं में अतिवेग से विलास पुर्वक भ्रमण कर रही देवी गंगा की लहरे उनके शिश पर लहरा रहीं हैं,जिनके मस्तक पर अग्नि की प्रचण्ड ज्वालायें धधक-धधक करके प्रज्वलित हो रहीं हैं,उन बाल चंद्रमा से विभूषित शिवजी में मेरा अनुराग (भक्ति) प्रतिक्षण बढता रहे. || 2 ||

जो पर्वतराजसुता (पार्वतीजी) के विलासमय रमणिय कटाक्षों में परम आनन्दित चित्त रहते हैं,जिनके मस्तक में सम्पूर्ण सृष्टि एवं प्राणीगण वास करते हैं, तथाजिनके कृपादृष्टि मात्र से भक्तों की समस्त विपत्तियां दूर हो जाती हैं,ऐसे दिगम्बर (आकाश को वस्त्र सामान धारण करने वाले) शिवजी की आराधना से मेरा चित्त सर्वदा आन्दित रहे. || 3 ||

जिनके जटाओं में लिपटे सर्पों के फण की मणियों के प्रकाश पीले वर्ण प्रभा-समुहरूप केसर के कातिं से दिशाओं को प्रकाशित करते हैं औरजो गजचर्म से विभुषित हैं मैं उन शिवजी की भक्ति में आन्दित रहूँ जो सभी प्राणियों की के आधार एवं रक्षक हैं. || 4 ||

जिन शिव जी का चरण इन्द्र-विष्णु आदि देवताओं के मस्तक के पुष्पों के धूल से रंजित हैं (जिन्हे देवतागण अपने सर के पुष्प अर्पन करते हैं),जिनकी जटा पर लाल सर्प विराजमान है,वो चन्द्रशेखर हमें चिरकाल के लिए सम्पदा दें. || 5 ||

shiv tandav stotram
Shiv Tandav Stotram Meaning

जिन शिव जी ने इन्द्रादि देवताओं का गर्व दहन करते हुए, कामदेव को अपने विशाल मस्तक की अग्नि ज्वाला से भस्म कर दिया, तथाजो सभि देवों द्वारा पुज्य हैं, तथाचन्द्रमा और गंगा द्वारा सुशोभित हैं,वे मुझे सिद्दी प्रदान करें. || 6 ||

जिनके मस्तक से धक-धक करती प्रचण्ड ज्वाला ने कामदेव को भस्म कर दिया तथाजो शिव प्रकृति पर चित्रकारी करने में अति चतुर है,उन शिव जी में मेरी प्रीति अटल हो. || 7 ||

जिनका कण्ठ नवीन मेंघों की घटाओं से परिपूर्ण आमवस्या की रात्रि के सामान काला है,जो कि गज-चर्म, गंगा एवं बाल-चन्द्र द्वारा शोभायमान हैं तथाजो कि जगत का बोझ धारण करने वाले हैं,वे शिव जी हमे सभी प्रकार की सम्पनता प्रदान करें. || 8 ||

Shiv Tandav Stotram in Hindi

जिनका कण्ठ और कन्धा पूर्ण खिले हुए नीलकमल की फैली हुई सुन्दर श्याम प्रभा से विभुषित है,जो कामदेव और त्रिपुरासुर के विनाशक,संसार के दु:खो को काटने वाले,दक्षयज्ञ विनाशक,गजासुर एवं अन्धकासुर के संहारक हैं तथाजो मृत्यू को वश में करने वाले हैं,मैं उन शिव जी को भजता हूँ. || 9 ||

जो कल्यानमय, अविनाशि, समस्त कलाओं के रस का अस्वादन करने वाले हैं,जो कामदेव को भस्म करने वाले हैं, त्रिपुरासुर, गजासुर, अन्धकासुर के सहांरक, दक्षयज्ञविध्वसंक तथा स्वयं यमराज के लिए भी यमस्वरूप हैं, मैं उन शिव जी को भजता हूँ. || 10 ||

Shiv Tandav Stotram Meaning
Shiv Tandav Stotra Meaning in Hindi

अत्यंत वेग से भ्रमण कर रहे सर्पों के फूफकार से क्रमश: ललाट में बढी हूई प्रचंडअग्नि के मध्यमृदंग की मंगलकारी उच्च धिम-धिम की ध्वनि के साथ ताण्डव नृत्य में लीन शिव जी सर्व प्रकार सुशोभित हो रहे हैं. || 11 ||

कठोर पत्थर एवं कोमल शय्या, सर्प एवं मोतियों की मालाओं, बहुमूल्य रत्न एवं मिट्टी के टूकडों, शत्रू एवं मित्रों, राजाओं तथा प्रजाओं, तिनकों तथा कमलों पर समान दृष्टि रखने वाले शिव को मैं भजता हूँ. || 12 ||

कब मैं गंगा जी के कछारगुञ में निवास करता हुआ, निष्कपट हो, सिर पर अंजली धारण कर चंचल नेत्रों तथा ललाट वाले शिव जी का मंत्रोच्चार करते हुए अक्षय सुख को प्राप्त करूंगा. || 13 ||

इस उत्त्मोत्त्म शिव ताण्डव स्त्रोत को नित्य पढने या श्रवण करने मात्र से प्राणि पवित्र हो जाता है, और परंगुरू शिव में स्थापित हो जाता है तथा सभी प्रकार के भ्रमों से मुक्त हो जाता है. || 14 ||

प्रात: शिवपुजन के अंत में इस रावणकृत शिवताण्डवस्तोत्र के गान से लक्ष्मी स्थिर रहती हैं तथा भक्त रथ, गज, घोडा आदि सम्पदा से सर्वदा युक्त रहता है. || 15 ||

शिवताण्डवस्तोत्रम् का पाठ कैसे करें?

महादेव शिव के महामंत्र शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) का पाठ करना परम शुभ फलदायक होता है. इस मन्त्र की रचना रावण ने की थी. इस महा मन्त्र का जाप किस तरह से करना है इसकी जानकारी निचे दी जा रही है.

How to chant Shiv Tandav Stotram
Shiv Tandav Stotram Lyrics
  • शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) का पाठ आप किसी भी दिन कर सकतें हैं.
  • सोमवार को महादेव शिव का दिन माना गया है. इसलिए सोमवार को शिवताण्डवस्तोत्रम् का पाठ करना अत्यंत शुभ होता है.
  • प्रातःकाल और संध्याकाल का समय शिवताण्डवस्तोत्रम् के जाप के लिए शुभ होता है.
  • शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) के पाठ से पहले महादेव शिव के शिवलिंग का विधि पूर्वक पूजन करना चाहिए.
  • उसके पश्चात ही शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) का पाठ करना चाहिए.
  • महादेव के शिवलिंग के पूजन में शिव लिंग पर गंगा जल चढ़ाएं.
  • बिल्वपत्र चढ़ाएं.
  • पुष्प और पुष्प माला चढ़ाएं.
  • महादेव को धतुरा का पुष्प अवस्य चढ़ाएं. यह महादेव को अत्यंत प्रिय है.
  • अक्षत आदि चढ़ाएं.
  • सिंदूर और रोली चढ़ाएं.
  • दूध से भी आप महादेव के शिवलिंग का अभिषेक कर सकतें हैं.
  • ॐ नमः शिवाय का जाप हमेशा करते रहें.
  • आप किसी पंडित से भी परामर्श कर सकतें हैं.
  • उसके पश्चात शिवताण्डवस्तोत्रम् का पाठ करें.
  • उसके पश्चात शिव जी की आरती करें.

शिवताण्डवस्तोत्रम् पाठ से लाभ

Shiv Tandav Stotram
Shiv Tandav Stotram Lyrics

महादेव शिव का महामंत्र शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) अत्यंत ही शक्तिशाली मन्त्र है. इस मन्त्र की रचना रावण ने की थी. और आप सब लोगों को पता है की रावण महादेव शिव का बहुत ही बड़ा भक्त था.

शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) के जाप से भक्त को महादेव शिव की कृपा प्राप्ति होती है. महादेव की कृपा से मनुष्य को सभी तरह के कष्टों से मुक्ति मिलती है.

जीवन में खुशिया आती है. धन सम्पति में बृद्धि होती है. जीवन में सुख का निवास होता है.

लक्ष्मी का वास होता है. चारों ओर सकारात्मकता प्रवाहित होती है.

इस मन्त्र से बहुत सारे लाभ हैं. परन्तु मैं आप सब लोगों को बता दूँ की इस मन्त्र का जाप से तभी आपको कोई लाभ प्राप्ति होगी. जब आप महादेव शिव में अगाध श्रद्धा रखेंगे. समस्त तरह के बुरे कर्मो से दूर रहेंगे.

सदा अच्छे कर्म करेंगे. मन में किसी तरह के विकार को आने नहीं देंगे. तभी आपको महादेव शिव की कृपा प्राप्ति होगी.

शिवताण्डवस्तोत्रम् डाउनलोड

Shiv Tandav Stotram Lyrics Download

To download Shiv Tandav Stotram Lyrics in Hindi and Shiv Tandav Stotram Lyrics in English PDF click the download link below. You can also print Shiv Tandav Stotram.

शिवताण्डवस्तोत्रम् को डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें. आप शिवताण्डवस्तोत्रम् ( Shiv Tandav Stotram Lyrics ) को प्रिंट भी कर सकतें हैं.

नोट : अंत में मैं एक बात आप सब शिव भक्तों से कहना चाहता हूँ. की वैसे तो सभी मन्त्रों का अपना एक महत्व है. ये मन्त्र काफी शक्तिशाली मन्त्र हैं. इनके जाप से अत्यंत ही शुभ फल की प्राप्ति होती है.

परन्तु एक बात जो मैं कहना चाहता हूँ की देवों के देव महादेव शिव की भक्ति और उनकी कृपा प्राप्ति के लिए किसी भी मन्त्र और पूजा विधि की आवश्यकता नहीं है. अगर आप ने अपने ह्रदय में महादेव शिव को वसा लिया है तो.

Shankar
Shiv Tandav Stotram

अगर आपके ह्रदय में महादेव शिव के प्रति अगाध प्रेम और श्रद्धा है तो आपको महादेव शिव की कृपा अवस्य प्राप्त होगी. आप चाहें कोई मंत्र का जाप करें या ना करें. आप शिव की पूजा करें या ना करें. अगर आप दिल से महादेव की पूजा करते हैं. तो महादेव शिव आप से अवस्य प्रसन्न होंगे और आपकी समस्त शुभ मनोकामना को अवस्य पूर्ण करेंगे.

महादेव शिव पर अगाध श्रद्धा और बिस्वास रखें. हमेशा सही कर्म करें. गलत कर्मों से दूर रहें. मन में किसी भी तरह के विकार आने नहीं दें. तो आपको अवस्य शिव जी की कृपा प्राप्ति होती.

जैसा की मैं पहले भी कहते आया हूँ की ॐ नमः शिवाय से बड़ा कोई शिव मंत्र नहीं है. इसलिय हो सकते तो ॐ नमः शिवाय का जाप करें. अन्यथा आप शिव शिव का भी जाप कर सकतें हैं. इससे आपका मन विकारों से दूर रहेगा.

अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो निचे कमेंट बॉक्स में लिखें.

भगवान महादेव शिव आप सभी भक्तों की समस्त शुभ मनोकामना पूर्ण करें.

हर हर महादेव. ॐ नमः शिवाय. बोल-बम .

शिव जी समबन्धित हमारे इन प्रकाशनों को भी अवस्य पढ़ें.

Rudrashtakam | रुद्राष्टकम

शिवाष्टकम | Shivashtakam

शिव आरती / Shiv Aarti

भगवान शंकर की आरती / Shankar Bhagwan ki aarti

शिव चालीसा / Shiv Chalisa

शिव मन्त्र

  • Kali Gayatri Mantra – माँ काली गायत्री मंत्र
    Kali Gayatri Mantra – माँ काली गायत्री मंत्र – काली गायत्री मंत्र एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र है. माँ काली की आराधना और स्तुति करने के लिए काली गायत्री मंत्र का पाठ किया जाता है. काली गायत्री मंत्र के पाठ से मनुष्य को माँ काली की कृपा की प्राप्ति होती है. माँ काली बहुत ही दयालु है. वे अपने बच्चों पर सदा कृपा करती हैं. Kali Gayatri Mantra – माँ काली गायत्री मंत्र ॐ कालिकायै […]
  • Annapurna Gayatri Mantra – अन्नपूर्णा गायत्री मंत्र
    Annapurna Gayatri Mantra – अन्नपूर्णा गायत्री मंत्र – अन्नपूर्णा गायत्री मंत्र एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र है. माँ अन्नपूर्णा की आराधना और स्तुति करें, अन्नपूर्णा गायत्री मंत्र के पाठ से. माँ अन्नपूर्णा की कृपा से दुःख और दारिद्र्ता से मुक्ति मिलेगी. जिस पर भी माँ अन्नपूर्णा की कृपा रहती है उसे दारिद्र्ता कभी नहीं सताती है. धन धान्य से उसका घर सदा भरा रहता है. Annapurna Gayatri Mantra – अन्नपूर्णा गायत्री मंत्र ॐ भगवत्यै च […]
  • Shakti Gayatri Mantra – शक्ति गायत्री मंत्र
    Shakti Gayatri Mantra – शक्ति गायत्री मंत्र – शक्ति गायत्री मंत्र एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र है. माँ शक्ति की आराधना और स्तुति करने के लिए श्री शक्ति गायत्री मंत्र का पाठ करना बहुत ही शुभ है. ॐ सर्वसंमोहिन्यै विद्महे, विश्वजनन्यै धीमहि, तन्नो शक्ति प्रचोदयात् ।। Om Sarvsanmohinyae Vidmahe Vishwajananyae Dheemahi tanno Shakti Prachodayat. How to chant Shri Shakti Gayatri Mantra? श्री शक्ति गायत्री मंत्र का पाठ सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ करें. सम्पूर्ण […]
  • Saraswati Gayatri Mantra – सरस्वती गायत्री मंत्र
    Saraswati Gayatri Mantra – सरस्वती गायत्री मंत्र – सरस्वती गायत्री मंत्र विद्या की देवी माँ सरस्वती की आराधना और स्तुति करने का एक शक्तिशाली मंत्र है. माँ सरस्वती विद्या और ज्ञान की देवी है. उनकी कृपा जिस पर रहती है वह अत्यंत विद्वान और गुनी बन जाता है. सरस्वती गायत्री मंत्र के पाठ से मनुष्य माँ सरस्वती की कृपा पा सकता है. यह एक शक्तिशाली और सिद्ध मंत्र है. Saraswati Gayatri Mantra – सरस्वती गायत्री […]
  • हयग्रीव गायत्री मंत्र – Hayagriva Gayatri Mantra
    हयग्रीव गायत्री मंत्र – Hayagriva Gayatri Mantra – हयग्रीव मंत्र भगवान श्री हयग्रीव देव जी की स्तुति और आराधना करने का एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र है. आप सबको बता दें की हयग्रीव एक असुर था जिसे वरदान था की वह सिर्फ हयग्रीव के हाथों ही मृत्यु को प्राप्त करेगा. इस कारण से भगवान् श्री विष्णु जी ने हयग्रीव अवतार लिया और उस राक्षस का संहार कर उसे मृत्यु लोक में भेजा. भगवान श्री विष्णु […]
  • दक्षिणामूर्ति गायत्री मंत्र – Dakshinamurthy Gayatri Mantra
    दक्षिणामूर्ति गायत्री मंत्र – Dakshinamurthy Gayatri Mantra – दक्षिणामूर्ति गायत्री मंत्र भगवान् श्री दक्षिणामूर्ति जी की आराधना और स्तुति करने का एक बहुत ही सफल माध्यम है. ह एक बहुत ही शक्तिशाली और सिद्ध मंत्र है. भगवान श्री दक्षिणामूर्ति जी को शिव शंकर भगवान का ही एक रूप माना जाता है. इनकी आराधना करना हमेशा ही शुभ फलदायक होता है. सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ भगवान् श्री दक्षिणामूर्ति जी की आराधना और स्तुति करें. […]
  • Brahma Gayatri Mantra – ब्रह्मा गायत्री मंत्र
    Brahma Gayatri Mantra – ब्रह्मा गायत्री मंत्र – ब्रह्मा गायत्री मंत्र एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र हैं. भगवान ब्रह्मा इस श्रृष्टि के रचनाकार हैं. उन्होंने ने ही इस श्रृष्टि का निर्माण किया है. भगवान ब्रह्मा की स्तुति और आराधना करना हमेशा ही शुभ फलदायक होता है. ब्रह्मा गायत्री मंत्र ब्रह्मा भगवान की स्तुति और आराधना करने का बहुत ही अच्छा माध्यम है. Brahma Gayatri Mantra – ब्रह्मा गायत्री मंत्र ॐ वेदात्मने विद्महे, हिरण्यगर्भाय धीमहि, तन्नो […]
  • Rudra Gayatri Mantra – रूद्र गायत्री मंत्र
    Rudra Gayatri Mantra – रूद्र गायत्री मंत्र – रूद्र गायत्री मंत्र एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र है. इस मंत्र में बहुत शक्ति छुपी हुई है. रूद्र भगवान शिव शंकर के ही अवतार हैं. रूद्र की आराधना करने से आप महादेव शिव शंकर की आराधना कर सकतें हैं. रूद्र गायत्री मंत्र के पाठ से आप रूद्र की आराधना करें और रूद्र आपकी सभी प्रकार के संकटों से रक्षा करेंगे. Rudra Gayatri Mantra – रूद्र गायत्री मंत्र […]
  • श्री दुर्गा गायत्री मंत्र – Maa Durga Gayatri Mantra
    श्री दुर्गा गायत्री मंत्र – Maa Durga Gayatri Mantra – श्री दुर्गा गायत्री मंत्र का पाठ करना हमेशा ही शुभ फल दायक होता है. दुर्गा गायत्री मंत्र एक सिद्ध और प्रभावशाली मंत्र है. सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ इस मंत्र का पाठ करने से माँ दुर्गा की कृपा की प्राप्ति होती है. माता बहुत ही दयालु है. वे सदा ही अपने भक्तों और अपने बच्चों का ख्याल रखती है. उनके दुःख और तकलीफों को […]
  • लक्ष्मी गायत्री मंत्र – Lakshmi Gayatri Mantra
    Lakshmi Gayatri Mantra – लक्ष्मी गायत्री मंत्र : माता लक्ष्मी की आराधना और स्तुति करने के लिए एक सिद्ध मंत्र है. इस मंत्र का प्रभाव बहुत ही व्यापक है. साथ ही यह मंत्र बहुत ही शक्तिशाली है. सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ नियम पूर्वक श्री लक्ष्मी गायत्री मंत्र का पाठ करने से चामत्कारिक फल की प्राप्ति होती है. Lakshmi Gayatri Mantra – लक्ष्मी गायत्री मंत्र ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि […]
  • Vishnu Gayatri Mantra – श्री विष्णु गायत्री मंत्र
    Vishnu Gayatri Mantra – श्री विष्णु गायत्री मंत्र का जाप अत्यंत ही शुभ फलदायक होता है. भगवान श्री विष्णु जी की आराधना और स्तुति करने के लिए आप श्री विष्णु गायत्री मंत्र का पाठ 1,5,या फिर 9 माला कर सकतें हैं. भगवान श्री विष्णु जी इस संसार के पालनकर्ता हैं. वे इस श्रृष्टि के समस्त प्राणियों का पालन पोषण करतें हैं. उनकी आराधना और स्तुति का हमेशा ही शुभ फल प्राप्त होता है. Shri Vishnu […]
  • Surya Gayatri Mantra – सूर्य गायत्री मंत्र
    Surya Gayatri Mantra – सूर्य गायत्री मंत्र : भगवान श्री सूर्य देव महाराज की स्तुति और आराधना करने का महामंत्र है. इस मन्त्र की शक्ति अपार है. अगर इस सूर्य गायत्री मंत्र का सही तरह से पाठ किया जाये तो इसके चामत्कारिक परिणाम प्राप्त होतें हैं. भगवान सूर्य देव को इस संसार का साक्षात देव माना जाता है. अर्थात आप भगवान् सूर्य देव जी की दर्शन कर सकतें हैं. सूर्य देव इस संसार के सभी […]
  • Ganesh Gayatri Mantra – गणेश गायत्री मंत्र : गणपति की कृपा प्राप्ति का महामंत्र
    Ganesh Gayatri Mantra – श्री गणेश गायत्री मंत्र : भगवान् श्री गणपति गणेश का एक शक्तिशाली और सिद्ध मंत्र है गणेश गायत्री मंत्र. भगवान् श्री गणपति गणेश प्रथम पूज्य हैं. किसी भी शुभ कार्य से पूर्व भगवान् श्री गणेश जी की स्तुति और आराधना आवश्यक है तभी वह कार्य सही रूप से संपन्न होता है. Also Read : Ganpati Aarti Ganesh Gayatri Mantra – श्री गणेश गायत्री मंत्र ॐ एकदंताय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती […]
  • Hanuman Gayatri Mantra श्री हनुमान गायत्री मंत्र
    Hanuman Gayatri Mantra is a very powerful Lord Hanuman Mantra. श्री हनुमान गायत्री मंत्र एक अदभुत और अत्यंत शक्तिशाली मंत्र है. इस मंत्र के नियमित जाप करने वाले हनुमान भक्त पर महावीर हनुमान जी की कृपा हमेशा बनी रहती है. Hanuman Gayatri Mantra श्री हनुमान गायत्री मंत्र ॐ आंजनेयाय विद्मिहे वायुपुत्राय धीमहि |तन्नो: हनुमत् प्रचोदयात ||1|| ॐ रामदूताय विद्मिहे कपिराजाय धीमहि |तन्नो: मारुति: प्रचोदयात ||2|| ॐ अन्जनिसुताय विद्मिहे महाबलाय धीमहि |तन्नो: मारुति: प्रचोदयात ||3|| Also […]
  • Gayatri Mantra with Meaning in Hindi गायत्री मंत्र – सही हिंदी अर्थ के साथ
    Gayatri Mantra with Meaning in Hindi गायत्री मंत्र का सही हिंदी अर्थ : गायत्री मंत्र को एक सर्वश्रेष्ठ मंत्र माना गया है. ऐसी मान्यता है की गायत्री मंत्र में वेदों के मंत्रो का सार है. गायत्री मंत्र को अच्छे से समझ कर और उसके अर्थ को जानकार इसका नियम पूर्वक जाप करने से मनुष्य के अंदर सकारात्मक बदलाव आता है. उसके मुख पर एक तेज आता है. उस व्यक्ति का बौधिक विकास होता है. गायत्री […]
  • Narmada Ji Ki Aarti Lyrics
    Narmada Ji Ki Aarti Lyrics Narmada Ji Ki Aarti Lyrics Om Jai Jagdanandi,Maiya Jai Aanand Kandi.Brahma Harihar Shankar, RewaShiv Hari Shankar, Rudrou Paalanti.Om Jai Jagdanandi…………….. Devi Naarad Saarad Tum Wardaayak,Abhinaw Padchandi.Sur Nar Muni Jan Sewat,Sur Nar MuniSharad Padwanti.Om Jai Jagdanandi………… Devi Dhumak Wahan Rajat,Wina Wadyanti.Jhoomkat Jhoomkat JhoomkatJhananan Jhananan Ramti Rajanti.Om Jai Jagdanandi…………. Devi Bajat Taal Mridanga,Sur Mandal Ramti.Toditaan Toditaan ToditaanTurangang Turangang Ramti Surwanti.Om Jai Jagdanandi…………… Devi Sakal Bhuvan par Aap Wirajat,Nishdin Aanandi.Gaavat ganga Shankar, Sewat […]
  • नर्मदा जी की आरती | Narmada Maiya Ji Ki Aarti
    नर्मदा जी की आरती | Narmada Maiya Ji Ki Aarti Narmada Ji Ki Aarti नर्मदा जी की आरती ॐ जय जगदानन्दी,मैया जय आनंद कन्दी ।ब्रह्मा हरिहर शंकर, रेवाशिव हरि शंकर, रुद्रौ पालन्ती ॥ॐ जय जगदानन्दी…………. देवी नारद सारद तुम वरदायक,अभिनव पदचण्डी ।सुर नर मुनि जन सेवत,सुर नर मुनि…शारद पदवन्ती ।ॐ जय जगदानन्दी…………. देवी धूमक वाहन राजत,वीणा वाद्यन्ती।झुमकत-झुमकत-झुमकत,झननन झननन रमती राजन्ती ।ॐ जय जगदानन्दी…………. देवी बाजत ताल मृदंगा,सुर मण्डल रमती ।तोड़ीतान-तोड़ीतान-तोड़ीतान,तुरड़ड़ तुरड़ड़ रमती सुरवन्ती ।ॐ जय […]
  • Shri Shiv Gayatri Mantra | श्री शिव गायत्री मन्त्र
    Shri Shiv Gayatri Mantra | श्री शिव गायत्री मन्त्र : श्री शिव गायत्री मन्त्र महादेव शिव ( Shiv ) का बहुत ही शक्तिशाली मन्त्र है. शिव गायत्री मन्त्र का रोजाना पाठ करने से महादेव शिव की कृपा की प्राप्ति होती है. अगर रोजाना 21 बार श्री शिव गायत्री मन्त्र का पाठ सच्चे ह्रदय से किया जाये तो इसके चामत्कारिक परिणाम मिलतें हैं. Shri Shiv Gayatri Mantra श्री शिव गायत्री मन्त्र ‘ऊं तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि […]
  • श्री जगन्नाथ आरती : चतुर्भुज जगन्नाथ कंठ शोभिता कौस्तुभ
    श्री जगन्नाथ आरती : चतुर्भुज जगन्नाथ कांता शोभिता कौस्तुभ | Shri Jagannath Aarti : Chaturbhuja Jagannatha Kantha Sobhita Koustubha. Read in English : Chaturbhuja Jagannatha Kantha Sobhita Koustubha इसे भी देखें : आरती श्री जगन्नाथ मंगलकारी श्री जगन्नाथ आरती : चतुर्भुज जगन्नाथ कांता शोभिता कौस्तुभ चतुर्भुज जगन्नाथकंठ शोभित कौसतुभः ।। पद्मनाभ, बेडगरवहस्य,चन्द्र सूरज्या बिलोचनः जगन्नाथ, लोकानाथ,निलाद्रिह सो पारो हरि दीनबंधु, दयासिंधु,कृपालुं च रक्षकः कम्बु पानि, चक्र पानि,पद्मनाभो, नरोतमः जग्दम्पा रथो व्यापी,सर्वव्यापी सुरेश्वराहा लोका राजो, देव […]
  • Shri Jagannath Aarti : Chaturbhuja Jagannatha Kantha Sobhita Koustubha
    Shri Jagannath Aarti : Chaturbhuja Jagannatha Kantha Sobhita Koustubha Read in Hindi : श्री जगन्नाथ आरती : चतुर्भुज जगन्नाथ कांता शोभिता कौस्तुभ Also Read : Aarti Shri Jagannath Mangalkari Shri Jagannath Aarti Chaturbhuja JagannathaKantha Sobhita Koustubhaha | Padmanaavo, Bedagarvah,Chandra Surjya Bilochanaha Jagannatha, Lokanaatha,Niladrih Sah Paro Hari Dinabandhurr, Dayasindhu,krupaaluh Chana Rakshyakah Kambu paani, Chakra paani,Padmanaavo, Narattamah… Jagatang Paaloko Byaapi,Sarba Byaapi Suresworaaha Loka Raajo, Deva Raajo,Chakra Bhupah Schabhupatihhi Niladrih Badrinaathah Scha,Aanantah Purusottamahha Taarkshodhyaayoh, Kalpataruhh,Bimalaa Priti Bardhanaha Balabhadroh […]
  • Shri Badrinath Ji Ki Aarti
    Shri Badrinath Ji ki Aarti Pawan Mand Sugandh Sheetal,Hem Mandir Shobhitam ।Nikat Ganga Bahat Nirmal,Shri Badrinath Vishwmbharam ॥ Shesh Sumiran Karat Nishadin,Dharat Dhyan Maheshwaram ।Ved Brahma Karat Stuti,Shri Badrinath Vishwambharam ॥Pawan Mand Sugandh Sheetal… Shakti Gauri Ganesh Sharad,Narad Muni Uchcharanam ।Jog Dhyan Apar Leela,Shri Badrinath Vishwmbharam ॥Pawan Mand Sugandh Sheetal… Indra Chandra Kuber Dhuni Kar,Dhoop Deep Prakashitam ।Siddh Munijan Karat Jai Jai,Badrinath Vishwmbharam ॥Pawan Mand Sugandh Sheetal… Yaksh Kinnar Karat Kautuk,Gyan Gandharv Prakashitam ।Shri Lakshmi […]
  • शिव जी की आरतियों का संग्रह – Shiv ji ki Aartiyan : विडियो, पीडीऍफ़ Download
    इस पोस्ट में शिव जी की सभी आरतियों ( Shiv Ji Ki Aartiyan ) क संग्रह प्रकशित किया गया है. Shiv ji ki Aartiyan in Hindi and Shiv Ji Ki Aartiyan in English with Video and PDF, Download. सभी आरतियों के निचे डाउनलोड का बटन दिया गया है. जहाँ से आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं. शिव चालीसा ( Shiv Chalisa ) का पाठ अवस्य करें. शिव जी की आरती : ॐ जय शिव ओमकारा […]
  • Hanuman Chalisa in Marathi Lyrics with PDF हनुमान चालीसा मराठी में
    इस पोस्ट में आज हनुमान चालीसा मराठी में Hanuman Chalisa in Marathi Lyrics with PDF प्रकाशित की जा रही है.साथ ही इस पोस्ट में आप सबको हनुमान चालीसा मराठी विडियो और पीडीऍफ़ डाउनलोड भी मिलेगा. हनुमान चालीसा मराठी विडियो – Hanuman Chalisa Marathi Video Hanuman Chalisa Marathi Lyrics || हनुमान चालीसा || || दोहा || श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि | बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि || बुद्धिहीन […]
  • हनुमान चालीसा मराठी पीडीऍफ़ Hanuman Chalisa Marathi PDF फ्री डाउनलोड
  • హనుమాన్ చాలిసా డౌన్లోడ్సా Hanuman Chalisa Telugu PDF Download
    హనుమాన్ చాలిసా డౌన్లోడ్సా : హనుమాన్ చలిసా తెలుగు సాహిత్యం, హనుమాన్ చలిసా అర్థం, హనుమాన్ చలిసా పిడిఎఫ్, హనుమాన్ చలిసా వీడియో, హనుమాన్ చలిసా డౌన్లోడ్, This post contains Hanuman Chalisa Telugu PDF Download : Hanuman Chalisa Telugu Lyrics, Hanuman Chalisa Telugu Meaning, Hanuman Chalisa Telugu Video, Hanuman Chalisa Telugu PDF and Hanuman Chalisa Telugu Download. హనుమాన్ చలీసా రోజూ చదవండి. దీనితో, హనుమాన్ జీ దయ మీపై ఎప్పుడూ ఉంటుంది. హనుమాన్ జీ అన్ని రకాల సంక్షోభాల నుండి మిమ్మల్ని రక్షిస్తాడు. డౌన్‌లోడ్ లింక్ ఈ పోస్ట్ చివరిలో ఇవ్వబడింది. […]
  • సాహిత్యంతో హనుమాన్ చలిసా తెలుగు – Hanuman Chalisa in Telugu with Lyrics
    Hanuman Chalisa Telugu : Get Hanuman Chalisa in Telugu with Lyrics, Video, and Images. హనుమాన్ చలిసా : ఈ పోస్ట్‌లో మీరు సాహిత్యం, వీడియో మరియు చిత్రాలతో హనుమాన్ చలిసా పొందుతారు. హనుమంతుడు చలిసా హనుమంతుని యొక్క చాలా శక్తివంతమైన పద్యం. ఎవరైతే హనుమాన్ చలిసాను నిజమైన హృదయంతో పఠిస్తారో, హనుమంతుడి దయ ఆయనపై ఎప్పుడూ ఉంటుంది. హనుమంతుడు చలిసాలో హనుమంతుడిని స్తుతించే 40 శ్లోకాలు ఉన్నాయి. హనుమంతుడు చలిసాను భక్తితో, భక్తితో క్రమం తప్పకుండా పఠించండి. హనుమంతుడి దయ మీపై ఉంటుంది. Chant Hanuman Chalisa in English Hanuman Chalisa in Hindi Hanuman Chalisa Telugu […]
  • Hanuman Chalisa Meaning in Hindi – हनुमान चालीसा हिंदी अर्थ के साथ
    Hanuman Chalisa Hindi Meaning : This post contains Hanuman Chalisa With Meaning in Hindi, PDF, Video, and Download, Hanuman Chalisa Meaning in Hindi. इस अंक में आप लोगों को मिलेगा हनुमान चालीसा हिंदी अर्थ के साथ, विडियो और पीडीऍफ़ डाउनलोड. Hanuman Chalisa Meaning in Hindi || हनुमान चालीसा हिंदी अर्थ के साथ || दोहा श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि |बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि || Hindi Meaning : […]
  • Hanuman Chalisa Meaning in English ( Translation )
    Hanuman Chalisa Meaning English : Hanuman Chalisa with Meaning in English, Hanuman Chalisa English Translation. First we will see Hanuman Chalisa in English then Hanuman Chalisa Meaning in English. Hanuman Chalisa in English || Doha || Shri Guru Charan Saroj Raj,Nij Man Mukuru Sudhari. Barnau Raghuvar Bimal Jasu,Jo Daayak Phal Chari. Buddhi Hin Tanu Janike,Sumiro Pawan Kumar. Bal Buddhi Viddhya Dehu Mohi,Harahu Kalesh Vikar. || Chaupai || Jai Hanuman Gyan Gun Sagar,Jai Kapis Tihun Lok […]
  • Shiv Chalisa English PDF
    Shiv Chalisa Hindi PDF शिव चालीसा हिंदी पीडीऍफ़ के लिए निचे डाउनलोड का बटन दबाएँ.
  • HANUMAN CHALISA ENGLISH PDF DOWNLOAD
    Hanuman Chalisa English PDF : Hanuman Chalisa English PDF one page, Hanuman Chalisa English PDF Download.
  • Shiv Chalisa PDF Free Download शिव चालीसा पीडीऍफ़ फ्री डाउनलोड
    Shiv Chalisa PDF : Shiv Chalisa in Hindi PDF Free Download. शिव चालीसा को हिंदी पीडीऍफ़ फ्री में डाउनलोड करें. Shiv Chalisa English PDF To download Shiv Chalisa English PDF click the Download Button below.
  • Hanuman Chalisa in Hindi PDF Free download हनुमान चालीसा हिंदी पीडीऍफ़
    Hanuman Chalisa in Hindi PDF Free Download.
  • Hanuman Chalisa in English – Lyrics ( Text ) – PDF – Audio – Download
    Jai Bajrangbali Hanuman, Get Hanuman Chalisa in English-Lyrics-PDF-Audio-Download. All the devotees of Hanuman ji are welcome at aartichalisa.com. Today, Sri Hanuman Chalisa English is being published. In this, you will be given the facility to download Hanuman Chalisa in English lyrics, PDF, audio, video, and more. So let’s say Jai Bajrangbali Hanuman with devotion and Let’s start the recitation of Hanuman Chalisa. Hanuman Chalisa in English || Doha || Shri Guru Charan Saroj Raj,Nij Man […]
  • Hanuman Chalisa in Hindi हनुमान चालीसा हिंदी में
    Hanuman Chalisa in Hindi हनुमान चालीसा हिंदी में || हनुमान चालीसा || || दोहा || श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि | बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि || बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरो पवन-कुमार | बल बुद्धि विद्या देहु मोहिं, हरहु कलेश विकार || || चौपाई || जय हनुमान ज्ञान गुण सागर,जय कपीस तिहुँ लोक उजागर ॥1॥ राम दूत अतुलित बलधामा,अंजनी पुत्र पवन सुत नामा॥2॥ महावीर विक्रम बजरंगी,कुमति निवार सुमति […]
  • Ganpati Aarti in Hindi, Marathi and English Lyrics गणपति आरती जय गणेश
    गणपति आरती, भगवान् गणेश की आरती, पीडीऍफ़, विडियो, लिरिक्स, डाउनलोड, Ganpati Aarti in Hindi, Marathi, and English Lyrics, PDF, Video, Download. Ganesh Bhagwan ki Aarti. Ganpati Aarti : Ganesh Bhagwan ki Aarti गणपति आरती : गणेश भगवान् की आरती जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥ एक दंत दयावंत, चार भुजा धारी ।माथे सिंदूर सोहे, मूस की सवारी ॥ जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।माता जाकी पार्वती, […]
  • Ganpati Aarti in Marathi श्री गणपति आरती सुखकर्ता दुखहर्ता Video, Lyrics, PDF
    श्री गणपति आरती मराठी में विडियो, लिरिक्स, पीडीऍफ़ और डाउनलोड | Ganpati Aarti in Marathi, Video, Lyrics, PDF. सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची आरती विडियो, लिरिक्स, पीडीऍफ़, डाउनलोड | Sukhkarta Dukhharta Varta Bighnachi Aarti Video, Lyrics, PDF, Download. Ganpati Aarti in Marathi सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाचीनुरवी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची. सर्वांगी सुंदर उटी शेंदुराचीकंठी झळके माळ मुक्ताफळाची जय देव जय देव जय मंगलमूर्तीदर्शनमात्रे मनकामना पुरती. जय देव जय देव…….. जय देव जय देव जय मंगलमूर्तीदर्शनमात्रे मनकामना […]
  • Jai Jai Shani Dev Maharaj Aarti | Shani Dev Aarti
    Read in Hindi / हिंदी में Jai Jai Shani Dev Maharaj Aarti Jai Jai Shni Dev Maharaj,Jan Ke Sankat Harne Wale. Tum Surya Putra Balidhari,Bhay Maanat Duniya Sari.Saadhat ho Durlabh Kaaj. Tum Dharmraj Ke Bhai,Jab Krurta Paayi.Ghan Garjan Karte Aawaaj.Jai Jai Shani Dev Maharaj………… Tum Nil Dev Wikrali,Hai Saanp Par Karat Sawari.Kar Loh Gada Rah Saaj.Jai Jai Shani Dev Maharaj……… Tum Bhupati Rank Banao,Nirdhan Swachhand Ghar Aayo.Sab Rat Ho Karan Mamtaaj.Jai Jai Shani Dev Maharaj……….. […]
  • Shani Bhagwan Ki Aarti शनि भगवान् की आरती : जय जय शनि देव महाराज
    Shani Bhagwan Ki Aarti : Jai Jai Shani Dev Maharaj शनि भगवान् की आरती : जय जय शनि देव महाराज जय जय शनि देव महाराज,जन के संकट हरने वाले । तुम सूर्य पुत्र बलिधारी,भय मानत दुनिया सारी ।साधत हो दुर्लभ काज ॥ तुम धर्मराज के भाई,जब क्रूरता पाई ।घन गर्जन करते आवाज ॥जय जय शनि देव महाराज………. तुम नील देव विकराली,है साँप पर करत सवारी ।कर लोह गदा रह साज ॥जय जय शनि देव महाराज………… […]
  • Aarti Shani Dev Ji Ki आरती शनि देव जी Jai Shani Dev Ji जय शनिदेव जी ……
    आरती शनि देव जी की | Aarti Shani Dev Ji Ki Shri Shani Aarti : Jai Shani Deva श्री शनि आरती : जय शनि देवा Jai Jai Shri Shani Dev Bhaktan Hitkari Aarti | जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी आरती Aarti Shani Dev Ji Ki आरती शनि देव जी की चार भुजा तहि छाजै,गदा हस्त प्यारी ।जय शनिदेव जी ……. रवि नन्दन गज वन्दन,यम अग्रज देवा ।कष्ट न सो नर पाते,करते तब सेवा […]
  • Jai Shani Deva Jai Shani Deva Aarti, Lyrics, PDF, VIDEO, Download
    Jai Shani Deva Jai Shani Deva Aarti जय शनि देवा जय शनि देवा आरती हिंदी में Jai Shani Deva, Jai Shani Deva,Jai Jai Jai Shani Deva. Akhil Shrishti Me Koti-Koti Jan,Kare Tumhari Sewa.Jai Shani Deva, Jai Shani Deva,Jai Jai jai Shani Deva……….. Ja Par Kupit Hou Tum Swami,Ghor Kasht wah Paawe. Dhan Waibhav aur Maan-Kirti,Sab Palbhar mein Mit Jaawe. Raja Nal Ko Lagi Shani DashaRajpaat har Leva. Jai Shani Deva, Jai Shani Deva,Jai Jai jai […]
  • Shri Shani Aarti : Jai Shani Deva श्री शनि आरती : जय शनि देवा
    श्री शनि आरती : जय शनि देवा. Shri Shani Aarti : Jai Shani Deva Aarti in Hindi, PDF, Lyrics, Video and Download. Jai Shani Deva Jai Shani Deva Aarti in English Shri Shani Aarti : Jai Shani Deva Aarti श्री शनि आरती : जय श्री शनिदेवा आरती जय शनि देवा, जय शनि देवा,जय जय जय शनि देवा । अखिल सृष्टि में कोटि-कोटि जन,करें तुम्हारी सेवा ।जय शनि देवा, जय शनि देवा,जय जय जय शनि देवा […]
  • Jai Jai Shri Shani Dev Bhaktan Hitkari Aarti
    Jai Jai Shri Shani Dev Bhaktan Hitkari Aarti शनिदेव आरती हिंदी में Jai Jai Shri ShaniDev Bhaktan Hitkari.Suraj Ke Putra Prabhu Chhaya Mahtari.Jai Jai Shri ShaniDev Bhaktan Haitkari…….. Shyam Ank Wakra Drisht ChaturBhuja Dhari.Nilamber Dhar Nath Gaj Ki Asawari.Jai Jai Shri ShaniDev Bhaktan Haitkari…….. Krit Mukut Shish Rajit Dipat Hai Lilari.Muktan Ki Mala Gale Shobhit Balihari.Jai Jai Shri ShaniDev Bhaktan Haitkari…….. Modak Mishthan Paan Chadhat Hai Supari.Loha Til Tel Udad Mahishi Ati Pyari.Jai Jai Shri […]
  • Om Jai Jagdish Hare Aarti Lyrics MP3 PDF download ॐ जय जगदीश हरे
    Om Jai Jagdish Hare Aarti Lyrics PDF : Om Jai Jagdish Hare Swami Jai Jagdish Hare. ॐ जय जगदीश हरे आरती Om Jai jagdish Hare Aarti ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे।भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥ॐ जय जगदीश हरे…….. जो ध्यावे फल पावे, दुःख बिनसे मन का। स्वामी दुःख बिनसे मन का ।सुख सम्पति घर आवे, धन-दौलत घर आवे, कष्ट मिटे तन का॥ॐ जय जगदीश हरे…….. […]
  • Shri Baba Balak Nath Ki Aarti – Hindi / English श्री बाबा बालक नाथ की आरती
    Shri Baba Balak Nath Ki Aarti – Hindi / English. श्री बाबा बालक नाथ की आरती. Shri Baba Balak Nath Ki Aarti ॐ जय कलाधारी हरे, स्वामी जय पौणाहारी हरे,भक्त जनों की नैया, दास जनों की नैया भव से पार करे,ॐ जय कलाधारी हरे… बालक उमर सुहानी, नाम बालक नाथा,अमर हुए शंकर से, सुन के अमर गाथा ।ॐ जय कलाधारी हरे… शीश पे बाल सुनैहरी, गले रुद्राक्षी माला,हाथ में झोली चिमटा, आसन मृगशाला ।ॐ जय […]
  • Durga Maa Aarti : Aarti Jag Janani आरती जगजननी मैं तेरी गाऊं
    Durga Maa Aarti : Aarti Jag Janani Main Teri Gaun | माँ दुर्गा की आरती : आरती जगजननी मैं तेरी गाऊं. माँ दुर्गे की आरधना और स्तुतिगान के लिए बहुत सी आरतियाँ ( Aarti )हैं. जिन सबका लिंक पोस्ट के अंत में दिया गया है. आप इनमे से किसी भी आरती से मैया की आरती और स्तुति कर सकतें हैं. सभी आरतियों का फल अत्यंत ही शुभ होता है. Durga Maa Aarti : Aarti Jag […]
  • Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa मंगल की सेवा सुन मेरी देवा
    Maa Kali Ki Aarti : Mangal Ki Sewa Sun Meri Dewa | माँ काली की आरती : मंगल की सेवा सुन मेरी देवा आरती को माँ दुर्गे और माँ काली या फिर देवी की स्तुति और आरती के लिए गाया जाता है. इस विडियो को अवस्य देखें इस आरती के माध्यम से मैया काली या फिर मैया के अन्य रूपों की आरती की जाती है. आप अन्य आरतियों के माध्यम से भी मैया की आरती […]
  • Maa Durga Aarti : Jag Janani Jai Jai माँ दुर्गा आरती : जग जननी जय जय
    Maa Durga Aarti : Jag Janani Jai Jai, माँ दुर्गा की आरती जग जननी जय जय एक बहुत ही प्रसिद्द माता की आरती है. जोई कोई भी सच्चे ह्रदय से माँ दुर्गा की सच्चे ह्रदय से इस आरती को गाता है. उस पर सदा ही माँ दुर्गे की कृपा दृष्टि बनी रहती है. विशेषकर अगर नवरात्री के दिनों में अगर माँ दुर्गा की इस आरती ( Maa Durga Aarti : Jag Janani Jai Jai ) […]
  • Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti In Hindi Lyrics माँ दुर्गा की स्तुति अम्बे तू है
    Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti In Hindi Lyrics : Maa Durga Ki Stuti and Aarti. माँ दुर्गा की स्तुति और आरती के लिए अम्बे तू है जगदम्बे काली का गान करना बहुत ही शुभ फलदायक होता है. माँ दुर्गे की कृपा के लिए इस विडियो को अवस्य देखें. माँ दुर्गा बहुत ही दयालु है. वे सदा ही अपने भक्तों पर अपनी कृपा दृष्टि रखती है. उसकी सभी प्रकार के कष्टों से रक्षा करती है. […]
  • Bajrangbali Ki Aarti | बजरंगबली की आरती | BAJRANGBALI AARTI
    बजरंगबली की आरती | Bajrangbali Ki Aarti महावीर श्री बजरंगबली की कृपा पाने का एक महामन्त्र है. बजरंगबली की आरती ( Bajrangbali Aarti ) इस कलयुग का एक बहुत बड़ा अस्त्र है. इस संसार में मनुष्य को सभी संकटों से बचाने वाले श्री हनुमान जी ही हैं. इसलिये बजरंगबली की आरती का महत्व बहुत ही ज्यादा हो जाता है. क्योंकि हनुमान चालीसा के बाद बजरंगबली हनुमान जी की स्तुति और आराधना करने का सबसे महत्वपूर्ण […]
  • Jai Ambe Gauri Aarti जय अम्बे गौरी आरती Lyrics, PDF, Download
    Jai Ambe Gauri Aarti | जय अम्बे गौरी आरती को जो कोई भी सच्चे ह्रदय गाते हुए मैया की आरती करता है. उस व्यक्ति पर सदा ही उस माँ गौरी अम्बे की कृपा दृष्टि बनी रहती है. मैया की यह आरती जय अम्बे गौरी बहुत ही महत्वपूर्ण आरती है. इस आरती को करने वाला सदा ही माँ अम्बे गौरी का कृपा प्राप्त बना रहता है. पोस्ट के अंत में आपको डाउनलोड लिंक मिलेगा जहाँ से […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *