कृष्ण की आरती – ॐ जय श्री कृष्ण हरे, प्रभु जय श्री कृष्ण हरे | Krishna Ki Aarti

Krishna Ki Aartiकृष्ण की आरती – भगवान श्री कृष्ण की कई आरतियाँ प्रचलन में है. आप इनमे से किसी भी आरती के द्वारा भगवान श्री कृष्ण की आराधना और स्तुति कर सकतें हैं. आपके ह्रदय में अगर भगवान श्री कृष्ण के प्रति सच्ची श्रद्धा और भक्ति है तो भगवान श्री कृष्ण जरुर आपका उद्धार करेंगे.

Krishn Ki Aarti Lyrics

Krishna Ki Aartiकृष्ण की आरती

Krishna Ki Aarti
Krishna Ki Aarti
Krishna Ki Aarti

ॐ जय श्री कृष्ण हरे, प्रभु जय श्री कृष्ण हरे.
शरण तुम्हारी भगवन, शरण तुम्हारी भगवन,
नैया पार करे, ॐ जय श्री कृष्ण हरे………..

ॐ जय श्री कृष्ण हरे, प्रभु जय श्री कृष्ण हरे.
शरण तुम्हारी भगवन, शरण तुम्हारी भगवन,
नैया पार करे, ॐ जय श्री कृष्ण हरे………..

मोर मुकुट सिर सोहे, गले मे जय माला.
प्रभु गले में जय माला, श्याम वर्ण मुख सुंदर,
श्याम वर्ण मुख सुंदर, जय जय नंदलाला.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे……….

हे यदु वंश विभूषण, तुम मेरे स्वामी,
प्रभु तुम मेरे स्वामी, सेवक की सुधि लेना,
सेवक की सुधि लेना, प्रभु अन्तर्यामी.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे, प्रभु जय श्री कृष्ण हरे.

हे गीता के गायक, जन नायक तुम हो.
प्रभु जन नायक तुम हो, भक्तों के रखवाले.
भक्तों के रखवाले, वरदायक तुम हो.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे………..

तुम गोवर्धन धारी, द्रोपदी के दुःख हारी.
प्रभु द्रोपदी के दुःख हारी.
मेरा भी दुःख टालो, मेरा भी दुःख टालो.
प्रभु मंगलकारी, ॐ जय श्री कृष्ण हरे………..

राणा ने मीरा को भेजा विष प्याला,
प्रभु भेजा विष प्याला, तुमने पल में विष को,
तुमने पल में विष को, अमृत कर डाला.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे…………

विप्र सुदामा की भी, तुमने मदद करी,
प्रभु तुमने मदद करी, कुटिया महल बना दी.
कुटिया महल बना दी, सारी विपति हारी.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे………..

बिगड़ी बनानेवाले, बिगड़ी बना मेरी.
प्रभु बिगड़ी बना मेरी, डाल दया की दृष्टि.
डाल दया की दृष्टि, मदद करो प्रभु मेरी.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे……….

हे त्रिभुवन के त्राता, दाता दुःख हर्ता.
प्रभु दाता दुःख हर्ता, सबके काज सवारे.
सबके काज सवारे, करो दया भर्ता.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे…………..

सुर नर ऋषि मुनि सारे, गावत गुण तेरे.
प्रभु गावत गुण तेरे, जनम जनम के फेरे.
जनम जनम के फेरे, काट प्रभु मेरे.
ॐ जय श्री कृष्ण हरे, जय श्री कृष्ण हरे.
प्रभु जय श्री कृष्ण हरे, ॐ जय श्री कृष्ण हरे.

ॐ जय श्री कृष्ण हरे, प्रभु जय श्री कृष्ण हरे.
शरण तुम्हारी भगवन, शरण तुम्हारी भगवन.
नैया पार करे, ॐ जय श्री कृष्ण हरे.

भगवान श्री कृष्ण से संबंद्धित अन्य प्रकाशनों को भी अवस्य देखें –

Aarti Kunj Bihari Ki

Shri Krishna Ji Ki Aarti – 2

Krishna Chalisa

Shri Krishna Gayatri Mantra

Shri Banke Bihari Ki Aarti

Banke Bihari Teri Aarti Gaun

Download | डाउनलोड

अगर आप श्री कृष्ण की इस आरती को डाउनलोड करना चाहतें हैं तो निचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लीक करें.

Read more –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *