Brahma Gayatri Mantra – ब्रह्मा गायत्री मंत्र

Brahma Gayatri Mantra – ब्रह्मा गायत्री मंत्र – ब्रह्मा गायत्री मंत्र एक सिद्ध और शक्तिशाली मंत्र हैं.

भगवान ब्रह्मा इस श्रृष्टि के रचनाकार हैं. उन्होंने ने ही इस श्रृष्टि का निर्माण किया है. भगवान ब्रह्मा की स्तुति और आराधना करना हमेशा ही शुभ फलदायक होता है.

ब्रह्मा गायत्री मंत्र ब्रह्मा भगवान की स्तुति और आराधना करने का बहुत ही अच्छा माध्यम है.

Brahma Gayatri Mantraब्रह्मा गायत्री मंत्र

Brahma Gayatri Mantraब्रह्मा गायत्री मंत्र

ॐ वेदात्मने विद्महे, हिरण्यगर्भाय धीमहि, तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात् ||

Brahma Gayatri Mantra
Brahma Gayatri Mantra

इस ब्रह्मा गायत्री मंत्र के अलावा भी अन्य ब्रह्मा गायत्री मंत्र है. आप किसी भी ब्रह्मा गायत्री मंत्र का सम्पूर्ण श्रद्धा के साथ पाठ कर सकतें हैं.

Brahma Gayatri Mantra

ॐ चतुर्मुखाय विद्महे, कमण्डलु धाराय धीमहि, तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात् ||

Brahma Gayatri Mantra

ॐ परमेश्वर्याय विद्महे, परतत्वाय धीमहि, तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात् ||

Brahma Gayatri Mantra

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे चतुरमुखाय धीमही तन्नो ब्रह्मा प्रचोदयात् ||

अन्य गायत्री मंत्र

गायत्री मंत्र अर्थ के साथ

रूद्र गायत्री मंत्र

श्री दुर्गा गायत्री मंत्र

लक्ष्मी गायत्री मंत्र

श्री विष्णु गायत्री मंत्र

सूर्य गायत्री मंत्र

गणेश गायत्री मंत्र

श्री हनुमान गायत्री मंत्र

श्री शिव गायत्री मंत्र

Brahma Gayatri Mantra Lyrics in English

Om Vedatmane Vidmahe Hiranyagarbhay Dhimahi Tanno Brahma Prachodayat.

Om Chaturmukhay Vidmahe Kamandalu Dharay Dhimahi Tanno brahma Prachodayat.

Om Parmeshwrayay Vidmahe partatway Dhimahi Tanno Brahma Prachodayat.

Om Tatpurushay Vidmahe Chaturmukhay Dhimahi Tanno Brahma Prachodayat.

Brahma Gayatri Mantra Meaning

Om, Let me meditate on The God who is the soul of Vedas,
Oh God, who holds the entire world within you, give me higher intellect,
And let the Lord Brahma illuminate my mind.

ॐ हे ब्रह्म देव सारे वेदों का सार आप में है, आपने ही इस श्रृष्टि का निर्माण किया है, हे ब्रह्म देव मुझे उच्च बुद्धि प्रदान करें और मेरी आत्मा को सन्मार्ग में प्रेरित करें.

How to chant Brahma Gayatri Mantra?

ब्रह्मा गायत्री मंत्र का पाठ पूर्ण रूप से स्वच्छ और पवित्र होकर करें. पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ ब्रह्मा गायत्री मंत्र का पाठ करें. इस मंत्र का पाठ 108 बार करना शुभ होता है. प्रातः काल और संध्या काल के समय ब्रह्मा गायत्री मंत्र का पाठ करना शुभ होता है. अगर ब्रह्म मुहूर्त में ब्रह्मा गायत्री मंत्र का पाठ किया जाये तो यह अत्यंत ही शुभ फलदायक होता है.

Brahma Gayatri Mantra Benefits

ब्रह्मा गायत्री मंत्र के पाठ से मनुष्य की श्रृष्टि के निर्माण कर्ता श्री ब्रह्म देव जी की परम कृपा की प्राप्ति होती है. इस मंत्र के पाठ के फलस्वरूप मनुष्य को उच्च बुद्धि की प्राप्ति होती है. मन में शान्ति और एकाग्रता आती है. शरीर स्वस्थ रहता है.

Brahma Gayatri Mantra PDF

ब्रह्मा गायत्री मंत्र को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें. इससे एक डाउनलोड पेज आपके समक्ष आएगा. जहाँ से आप इसे एक क्लिक पर डाउनलोड कर सकेंगे, साथ ही इसे अगर चाहें तो प्रिंट भी कर पायेंगे.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी अवस्य देखें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!